Oct 2018

Horoscope, Janam Kundali, Business Problems, Health problems

0
(0)

 मेष राशि

ग्रह और नक्षत्रों की शुभ युति के कारण अक्टूबर मास मे मेष राशि वाले सौभाग्यशाली रहेंगे। सभी ग्रहों का आपसी तालमेल नेक फल देने वाला होगा। इस मास में आपके सभी निर्णय प्रभावशाली रहेंगे। 6 अक्टूबर  शनिवार बुध का तुला राशि में प्रवेश आप के लिये एक शुभ संदेश लेकर आएगा। जो आपकी छवि के लिए शुभ फलदाई होगा। आपके लिए गए निर्णय सर्वमान्य से सम्मानित रहेगे।

19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 अक्टूबर बुधवार तक पंचकों का समय रहेगा। इस समय में  नया व्यापार शुरू ना करें और यात्रा ना करें तो सुखद फल रहेगा। आप इस मास में अपने कार्य प्रबंधन की क्षमता से समाज में नेतृत्व करते हुए मान सम्मान पाओगे।

मन में प्रसन्नता और सफलता के साथ यह नवीन मास आप के उत्सव मनाने के लिए उपयुक्त समय रहेगा। आप भूतकाल में जो भी करते रहे हैं जिस गतिविधियों में व्यस्त रहे हैं उनका अंत आ रहा है। एक नवीन जीवन शैली के लिए आपके जीवन में स्थान उपलब्ध हो रहा है। आप नई संभावनाओं नए संबंधों और अज्ञात आयामों के लिए पूर्ण रूप से उपलब्ध है। यह समय है जीवन चक्र के लिए कुछ करने का। यह माह मे धन की आमद आप के जीवन में एक सुखद संदेश लेकर आएगी। जो परिवारिक स्थिति के लिए और आपके लिए शुभ असर का होगा।

अक्टूबर मास मेष राशि में धन की व्यवस्था के लिए शुभ रहेगा। धर्म की आमद निर्विघ्न रहेगी। धन के लिए की गई कोशिशें सफल रहेंगी। धन की आमद के कई नये जरिये बनेंगे। जीवनसाथी का स्वास्थ्य शुभ फलदायक रहेगा। घर के उत्तर की तरफ पानी का प्रबंध करना धन दौलत के लिए शुभ असर करेगा। 11 अक्टूबर बृहस्पतिवार गुरु का वृश्चिक राशि में प्रवेश मेष राशि वालों के लिए शुभ फल प्रदान करने वाला होगा।

लाटरी सट्टा मेअचानक धन प्राप्ति होगी। शेयर बाजार लाभ देगा। इस मास में ऋण मुक्ति के योग बने हुए हैं। जो फलदाई रहेंगे । सोना चांदी रतन धातु आदि की खरीद और उनका संग्रह शुभ फल देगा। बिल वसूलने वाले ,खजांची और सर्वेक्षण विभाग से विशेष लाभ प्राप्त होगा।

मित्रों की संख्या इस माह में कम ही रहेगी। कुछ मित्रों से धन की स्थिति को लेकर मनमुटाव रहेगा। नकारत्मक विचार मित्रों के प्रति रहेंगे। 10 अक्टूबर  नवरात्रों के आरंभ होते ही स्थिति में सुधार होगा मित्रों का आप के प्रति नजरिया बदलेगा और मित्रता वाला भाव उत्पन्न होगा। ऋण प्राप्ति के लिए आप की योग्यताएं पूर्ण होगी और शुभ कार्य के लिए ऋण की प्राप्ति होगी। मंदे समय से बचाव के लिए अपने वजन के बराबर दूध वाली गाय को हरा चारा डालना निश्चित तौर पर आपको सफलता देगा और राज दरबार से आपके लिए उत्तम फल होगा।

परिवारिक स्थिति मे अक्टूबर मास मेष राशि वालों के लिए कुछ ज्यादा सुखद स्थिति का ना होगा। राशी मे राहु की स्थिति नेक ना होने के कारण परिवारिक स्थिति स्थिर ना होगी। अपने से छोटे परिवारिक सदस्यों से मनमुटाव रहेगा। अलगवाद  का विचार होगा। 13 अक्टूबर शनिवार शुक्र के अस्त होते ही स्थिति में सुधार होगा। परिवार में बाहरी हस्तांतरण बंद होगा। घर से जली हुई मिट्टी , जली हुई लकड़ी का और जले हुए कोयले का निकाल बाहर करना घर से नकारत्मक ऊर्जा को खत्म करेगा। पारिवारिक स्थिति सुधरेगी और संबंध सुदृढ़ होने शुरू हो जाएंगे। मदे समय में उपाय के लिए दो सूखे नारियल पूजा वाले बहते पानी में डालना नेक फल पैदा करेगे।

मेष राशि अक्टूबर मास में विद्या के संबंध में शुभ फलदाई रहेगी। इस मास के शुरू में विद्या को लेकर कुछ असमंजस रहेगा। जो कार्य की पूर्ति के लिए शुभ ना होगा। 17अक्टूबर बुधवार संक्रांति के दिन सूर्य का तुला राशि में प्रवेश निश्चित तौर पर सारी अनिश्चितताओं को विराम लगाएगा। विद्या मे निर्विघ्न सफलता प्राप्त होगी और उच्च विद्या प्राप्ति के लिए नई जगह जाना होगा। जो शुभ फलदाई रहेगा। 17अक्टूबर के बाद प्रेम संबंधों में मजबूती रहेगी और नेक फल होगा।

मेष राशि अक्टूबर मास शत्रु पक्ष दबा और डरा रहेगा। शत्रु आप के प्रति मैत्री भाव रखकर श्रद्धावान रहेगा। कोर्ट कचहरी के लंबित मामले हक में होंगे। 6 अक्टूबर शनिवार बुध का तुला राशि में प्रवेश राजदरबारी कामों से और शत्रु पक्ष से विजय प्राप्त करने में सहायक होगा। इस मास में शरीर के लिए योगा और कसरत शुभ फलदायक रहेगी और इसमें रुचि बनी रहेगी। नौकरों और सेवकों का सुख बना रहेगा।

मेष राशि अक्टूबर माह में जीवनसाथी का साथ नेक फल का रहेगा। जीवनसाथी का भाग्य आपके भाग्य को उन्नत करता हुआ आपके जीवन को एक नई दिशा देगा। जीवनसाथी का स्वास्थ्य ठीक रहेगा। नौकरी के संबंध में यह मास महत्वपूर्ण रहेगा। तरक्की की योजनाएं बनेंगी जो आगे समय में चलकर पूर्ण रुप से सफलतापूर्वक संपन्न होगी।

नोकरी मे ज्यादा मेहनत और ज्यादा काम करने के बाद  आपके कार्य को सहराया जाएगा। उच्च अधिकारियों से मान सम्मान प्राप्त होगा और चाह कर भी तबादला ना होगा। इस मास घर पर नए कपड़े और कॉस्मेटिक का नया सामान का आना एक शुभ असर का होगा

अक्टूबर मास मेष राशि में सेहत के लिए नेक फल का ना होगा। परिवार में  किसी बुजुर्ग सदस्य को पेट गला और कानों की तकलीफ रहेगी।24 अक्टूबर बुधवार शरद पूर्णिमा के बाद निश्चित तौर पर स्थिति में सुधार होगा और सेहत मे लाभ होना शुरू हो जाऐगा। जो नेक फल का होगा। पुराने फटे हुये जूते घर से निकाल बाहर करना नेक फल का होगा।

धार्मिक कार्यों में मेष राशि वालों का अक्टूबर माह सुखद अवस्था में बीतेगा। परिवार मे धार्मिक उत्सव होंगे। धार्मिक कार्यों में सामाजिक तौर पर तन मन धन से आपकी सम्मिलिता बनी रहेगी। जो समाज में आपको उचित स्थान दिलवाने में सहायक होगी। आलस्य छोड़ शुभ कार्य करना आपकी ख्याति को बढ़ाएगा। यात्राएं स्थगित हो जाएंगी परिवार के साथ रहने का ज्यादा समय मिलेगा जो शुभ फलदाई होगा।

अक्टूबर माह मेष राशि में व्यापारिक गतिविधियां  बढ़ जाएंगी। व्यापार के लिए नए तरीके नई योजनाएं कारगर साबित होगी। अपने कार्य के लिए नए आदमी काम के लिए रखना शुभ फलदायक होगा। 26 अक्टूबर शुक्रवार बुध का वृश्चिक राशि में प्रवेश सारे विघ्नों को और सारी रुकावटों को खत्म करेगा और आपका व्यवसाय नई दिशा में दौड़ेगा। आपको सफलता प्रदान करेगा।खर्चा शुभ कार्यों पर होगा जो मन को प्रसन्नता देने वाला होगा।

वृष राशिफल


वृश्चिक राशि मेअक्टूबर माह ग्रह और नक्षत्रों की शुभ युति के कारण यह मास स्वछता से और शांति से बीतेगा। तख्त पति चंद्रमा इस मास में होने वाली सारी अनिश्चितता को विराम लगाऐगा। राशी मे चंद्रमा की उपस्थिति शुभ होने के कारण इस मास में हर संघर्ष के बाद विजय प्राप्त होगी।

19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 अक्टूबर बुधवार तक पचंको का समय है। इस समय मे मित्रों को उधार ना दे और नए मित्रों को घर में प्रवेश ना दें तो शुभ फल रहेगा। इस मास में सर्व कार्य सिद्धि के लिए किसी ताँबे के बरतन मे गंगा जल या कुएं का पानी या किसी तह जमीन का पानी में चांदी का टुकड़ा डाल कर रखना सब कष्टों से बचा कर रखेगा। पूरा मास नेक फल देगा।

अक्टूबर माह आप अपनी आंतरिक समृद्धि एवं ऊर्जा को बांटने के लिए परिपक्व तत्पर हैं। आपकी शांत प्रवृत्ति आपके सृजनात्मक कार्य प्रेम एवं सहज सफलता को आप प्रतिदिन अनुभव में बाटोगे। अपने पूर्व अनुभवों मे नवीन दृष्टि से कुछ नए सृजन करने का यह उचित समय है। अपने भीतर जाकर खोज करने का एव उस ऊर्जा को ब्रह्मा जीवन में लाकर रूप देने का साहस करने का समय है। अपने आपने सुझाव मे सृजनात्मक उर्जा का बेहतर प्रयोग करते हुए अपने आसपास और अपने जीवन में जीवन ज्योति को जगायेगे।

धर्म के लिए यह मास संघर्षमय रहेगा। धन की प्राप्ति मेहनत और संघर्ष के बाद ही होगी। धन रुक-रुक कर आएगा। 6 अक्टूबर शनि बुध का तुला राशि में प्रवेश निश्चित तौर पर स्थिति में सुधार करेगा। धन के लिए अब ज्यादा संघर्ष ना करना पड़ेगा। इस मास में ज्योतिषशास्त्र फलकथन और नवीन खाद्य पदार्थ खाने मे रूचि बनी रहेगी। शादी समारोह में जाने का मौका रहेगा।

अक्टूबर मास वृष राशि  मे मित्रों की संख्या कोई ज्यादा नहीं रहेगी। मित्रों की मित्रता नेक ना रहेगी। कुछ मित्र साथ छोड़ जाएंगे और कुछ मित्रों से मतभेद रहेंगे। 11 अक्टूबर बृहस्पतिवार गुरु का वृश्चिक राशि में प्रवेश निश्चित तौर पर स्थिति में सुधार करेगा। मित्र कम ही रहेंगे लेकिन मित्रों से मत भेद खत्म होगा। जो आपकी सफलता का और आपकी तरक्की का कारण भी बनेगा। वाहन  की रिपेयर और नाहक खर्चा रहेगा।

वृष राशि की अक्टूबर मास मे परिवारिक स्थिति सुखद रहेगी। घर और परिवार के लिए तरक्की के लिए योजनाएं बनेंगी। इस मास में फिक्स डिपाजिट और धन की व्यवस्था परिवार में अच्छी रहेगी। माता का सुख बना रहेगा और माता को स्वास्थ्य लाभ रहेगा।  घर पर कुदरती रोशनी आने के जरिए रोशनदान खिड़की आदि को पक्के तौर पर बंद ना करें तो नेक फल पैदा होगा। 17 अक्टूबर बुधवार संक्रांति के दिन सूर्य का तुला राशि में प्रवेश पारिवारिक स्थिति को और भी सुदृढ़ करेगा और परिवार मे पुराना मनमुटाव  खत्म होगा। परिवारिक स्थिति की शांति के लिए 8 किलो कनक बहते पानी में डालने से नेक फल होगा।

वृष राशि वाले इस मास मे विद्या के संबंध में भाग्यशाली रहेंगे। आपकी विद्या अनुमानित अंकों से अधिक में उत्तीर्ण होगी। जो समाज में और परिवार में मान सम्मान दिलाने में सहायक रहेगी। सूर्य के अच्छे प्रभाव के कारण दिमागी ताकत बाकमाल रहेगी। विद्या प्राप्ति के लिए सारी कोशिशें सफल रहेंगी। प्रेम संबंध  इस माह में सफल रहेंगे। 11 अक्टूबर बृहस्पतिवार गुरु का वृश्चिक राशि में प्रवेश विद्या के संबंध में और प्रेम संबंध में शुभ समाचार लेकर आएगा। घर पर रसोई खाने में रिपेयर करवाना और रसोई खाने में खाना परोसने और खाना बनाने वाले बर्तनों का नया आना एक शुभ संकेत का रहेगा।

वृष राशि में अक्टूबर माह शत्रु पक्ष डरा और दबा रहेगा। शत्रु शत्रुता छोड़कर मित्रता वाला भाव प्रकट करेगा पर दिल से वह आप के प्रति आपका साथ ना देगा। सावधान रहें। शत्रु पर भरोसा करना नेक फल ना देगा। कोर्ट कचहरी के मामले हक मे होगे। राज दरबार मे लंबित मामले सफलता के साथ खत्म होगे। अब रोजगार में मेहनत की शर्त ना होगी। खर्च के लिए धन खुद ब खुद आ जाएगा। 19 अक्टूबर शुक्रवार विजयदशमी के उत्सव के बाद स्थिति नियंत्रण में रहेगी। किसी धार्मिक स्थान पर एक किलो पीले रंग के लड्डू दान करना शत्रु पक्ष से बचाव रखेगा।

अक्टूबर माह वृष राशि मे जीवनसाथी का प्रभाव आप पर बना रहेगा। जीवनसाथी का कार्या आप को प्रभावित करता रहेगा। उसका साथ आपके लिए नेक भाग्य का होगा। 2 अक्टूबर से 8 अक्टूबर तक जीवनसाथी यात्रा पर हो सकता है। और यात्रा के कारण दूरी बन सकती है।10 अक्टूबर नवरात्रों के शुरू होने से ही स्थिति में सुधार होगा। जीवनसाथी से साथ बना रहेगा। नौकरी के पक्ष में यह मास नेक फल देने वाला होगा। अपने कार्य के इलावा और कार्यभार भी मिलेगा। आप अपनी कार्यकुशलता से सीनियर अफसरों से मान सम्मान पाओगे।यह सब आपके उज्जवल भविष्य की ओर इशारा करेगे।

अक्टूबर मास में वृष राशि सेहत के पक्ष में कुछ ज्यादा नेक फल ना देंगी। परिवार में किसी सदस्य की सेहत खराब रहेगी। इस मास में छत को उतारना या नई छत डालना या छत को रिपेयर करवाना कोई नेक फल पैदा ना करेंगा। बेहतर होगा इस मास में छतों से छेड़छाड़ ना की जाए। बुरे समय से बचाव के लिये ढाई किलो माह साबत दाल इस महीने हर शनिवार बहते पानी में डालना सब दुखों और कष्टों से बचाव रखेंगा। सेहत के पक्ष में लाभ रहेगा।

अक्टूबर माह मे वृष राशि वालों की धार्मिक कार्यों मे आपकी सम्मिलिता तन मन धन से बनी रहेगी। इस से आपका उत्साह बढ़ेगा। 11 अक्टूबर  बृहस्पतिवार गुरु का वृश्चिक राशि में प्रवेश आप का सामाजिक और धार्मिक कार्यों मे बढ़ाने को सहायक होगा। समाज में प्रतिष्ठित व्यक्ति के तौर पर पहचान बढ़ेगी। छोटी धार्मिक स्थान की  यात्रा होगी। जो सुखद असर की होगी।

वृष राशि को अक्टूबर माह व्यापार में रुकावट पैदा होगी जो आपको विचलित करेगी और उनका हल असंभव-सा नजर आता होगा। 14 अक्टूबर रविवार चंद्रमा का धनु राशि में प्रवेश सब अनिश्चितताओं को विराम चिन्ह लगा देगा। व्यापार में सुधार होना शुरू होगा। व्यापारिक स्थान पर दक्षिण-पश्चिम की तरफ अंधेरा रखना व्यापार में  विघ्न पैदा करेगा। इस माह में बेहतर होगा कि व्यापारिक स्थान पर रोशनी से उसको रोशन रखा जाये। नेक फल पैदा होगा।

वृष राशि अक्टूबर में मास में खर्च की दृष्टि से  ज्यादा खर्चा होगा और खर्चे से मन खुश ना रहेगा।व्यर्थ की चीजों का व्यय होगा।


मिथुन राशि


अक्टूबर मास में मिथुन राशि में ग्रह और नक्षत्रों की शुभ युति के कारण आपका यह मास प्रभावशाली ढंग से व्यतीत होगा। लग्न पति बुध की सूर्य के साथ राशि में उपस्थिति आपको पूरा मास आकर्षक बनाए रखेगी। आपके रुके हुए कार्य आपकी  उपस्थिति से ही पूर्ण हों जायेगे। आपकी तीक्ष्ण बुद्धि द्वारा किए गए निर्णय सफलतापूर्वक सर्वमान्य होंगे। आप अपने कार्य क्षमता से सब को प्रभावित करोगे। 19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 अक्टूबर बुधवार तक पंचकों का समय है। इस समय में यात्रा ना करें और पैसे का नया लेनदेन ना करें। शुभ फल होगा। इस मास में गैस चुला और गीजर खराब होने पर तुरंत ठीक करा ले तो शुभ फल पैदा होगा।

यह मास सभी संभावनाओं से परिपूर्ण है। आप ऐसे अंतराल पर अपने को खड़े पाओगे। जहां आपके सहारे के लिए कोई नही है। यह समय आती-जाती स्वास में उपस्थित स्वर  को सुनने का है। स्वास के अंतराल में ठहरने का है। सद्गुरु आपके जीवन में रहस्य और आशीर्वादों का पदार्पण कर रहे हैं। यह समय परिवार के साथ खुशियां बांटने का है। बेहतर होगा द्वेष भावना छोड़ परिवारिक खुशियों के लिए कार्य किया जाए।

मिथुन राशि अक्टूबर मास में धन के लिए कोई ज्यादा शुभ ना होगी। धन दिखाई तो देगा परंतु उसकी प्राप्ति के लिए सारे यतन बेअसर हो जाएंगे। राशि में राहु की स्थिति के कारण  धन प्राप्ति में विघ्न रहेंगे। जिसके लिए छत वाली पानी की टंकी और रसोई खाने का नल खराब होते ही तुरंत ठीक करवाएं तो धन की आमद के लिए सुगमता रहेगी। जीवनसाथी का स्वास्थ्य इस माह में कुछ ज्यादा नेक फल का नाम होगा। बेचैनी और नींद का न आना आम बात होगी। धन प्राप्ति के लिए और जीवनसाथी के अच्छे स्वास्थ्य के लिये मंदे  समय में ढाई किलो सफेद चावल किसी धार्मिक स्थान पर दान करना शुभ फल प्रदान करेगा।

अक्टूबर माह में मिथुन राशि वालों के मित्रों की संख्या बढ़ने वाली है। सभी मित्र प्रभावशाली मिलेंगे जो आपके कार्य सिद्धि में सहायक होगे। मित्रों को भी आप से लाभ होगा। दुख सुख में काम आएंगे। आपको इस मास में शेयर बाजार लाभ देगा। नये कपड़ो मे,कहानी उपन्यास लेखन और फलकथन मे रुचि बढ़ेगी। अपनी व्यक्तिगत स्वतंत्रता को लेकर विचार रहेगा जो शुभ फलदायक होगा। इस मास में भाई-बहन नौकर-चाकर का सुख बना रहेगा। गाड़ी आदि वाहन का सुख बहुत सरलता से प्राप्त  रहेगा। सफर होगा जो मन को आनंद देने वाला होगा।

मिथुन राशि मे अक्टूबर माह घर परिवार के लिए  विशेषकर शुभ फल का रहेगा। पारिवारिक स्थिति सुखद रहेगी। आपके परिवार के प्रति किए गए कार्य सहराये जाएंगे। आपका योगदान सफलतापूर्वक परिवार को एक नई दिशा में ले जाने के लिए सहायक होगा। वाहन का सुख होगा। इस मास में जीवन के प्रति आपका सकारत्मक दृष्टिकोण रहेगा और आपने जरूरत से अधिक आत्मविश्वास रहेगा। सार्वजनिक क्षेत्र या सरकारी गतिविधियां में आपका महत्वपूर्ण योगदान होगा। कड़ी मेहनत करोगे मेहनत से यात्रा भी सफल रहेगी। माता पिता से संबंध मधुर रहेंगे और वसीयत से लाभ भी शीघ्र प्राप्त होगा।

मिथुन राशि अक्टूबर मास मे विद्या के संदर्भ में शुभ फल देने वाली होगी। विद्या में सफलता खुद ब खुद आती जाएगी। बृहस्पति की स्थिति मिथुन राशि में महत्वपूर्ण होने के कारण विद्या प्राप्त करने के लिए नए स्थान की प्राप्ति होगी जो अति शुभ दायक है। प्रेम संबंध में यह मास अत्यंत खुशियां लेकर आएगा। काफी समय से चले आ रहे संबंध इस माह में निर्णायक अवस्था में पहुंचेंगे जो मानसिक खुशी प्रदान करेंगे। 16 अक्टूबर मंगलवार शुक्र का वक्री होना स्थिति को और मजबूत करेगा। परंतु सयम से काम लेना उत्तम असर का होगा।  धर्म का पाठ धर्म का पथ ना छोड़ते हुए कार्य करते रहने से समाज में प्रतिष्ठित स्थान पाओगे।

मिथुन राशि वाले अक्टूबर माह की शुरुआत से ही परेशान रहेंगे। शत्रु पक्ष आपको नीचा दिखाने के लिए बार-बार प्रयत्न करता रहेगा। जो मन को दुख देने वाली कारवाही होगी। कोई अपना ही शत्रु बनकर आपके समक्ष खड़ा होगा। बेहतर होगा 13 अक्टूबर से 20 अक्टूबर तक व्यर्थ की बहस और झगड़े से बचा जाये तो नेक फल रहेगा। 19 अक्टूबर शुक्रवार विजयदशमी के बाद स्थिति में निश्चित तौर पर सुधार होगा और शत्रु पक्ष पर विजय हासिल होगी। मंदे समय से बचाव के लिए ढाई किलो गुड़ किसी धार्मिक स्थान पर दान करना नेक फल पैदा करेगा।

अक्टूबर माह मिथुन राशि मे जीवनसाथी का साथ बना रहेगा। छोटे छोटे मनमुटाव के बाद भी  जीवनसाथी का सहयोग आपके जीवन में पूरा रहेगा। परिवार की बेहतर प्रगति के लिए जीवनसाथी का भरपूर सहयोग होगा । नौकरी में यह मास पूर्ण नेक फल देने वाला है। परंतु कुछ समय के लिए सीनियर अफसरों से विचारों में मतभेद रहेगा। 26 तारीख शुक्रवार बुध का वृश्चिक राशि में प्रवेश सारी अनिश्चितताओं को विराम लगा देगा। नोकरी मे बुरे समय से बचाव के लिए और परिवारिक जीवन को नेक रखने के लिए एक किलो माह साबत दाल किसी धार्मिक स्थान पर दान करने से निश्चित तौर पर नेक फल  होगा।

अक्टूबर मास मिथुन राशि में सेहत के लिए नेक फल का ना होगा।  पेट में कष्ट रहेगा और पखाने की नाली तंग करेगी। 19 और 20 अक्टूबर को रात का सफर ना करना नेक फलदायक होगा। मोबाइल  टेलीफोन से संबंधित परेशानी रहेगी उसका गिरने का और चोरी हो जाने का भय रहेगा। 27 अक्टूबर शनिवार करवा चौथ के बाद चंद्रमा का वृष राशि में प्रवेश सब कष्टों से बचाने में सहायक होगा। घर में मिट्टी का तंदूर और नया चूलाह लेकर आना नेक असर का ना होगा। घर के आगे पडा हुआ मलवा बिल्डिंग मटेरियल को साफ करवाना नेक फल पैदा करेगा। बुरे समय और कष्ट से बचाव के लिए तिल वाली  गुड़ की रेवड़ियां को किसी धार्मिक स्थान पर दान करना नेक असर का होगा।

अक्टूबर माह मे  मिथुन राशि वाले धार्मिक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेगे। आपकी तन मन धन से धार्मिक कार्यों में सम्मिलिता नेक फल पैदा करेगी। कार्यविधि के मतभेदों के कारण सदस्यों से कुछ खिंचाव रहेगा। परंतु शीघ्र ही 4 अक्टूबर बुधवार सूर्य का तुला राशि में प्रवेश सब मतभेदों को दूर करेगा और निश्चित तौर पर आपके कार्य और आपकी सोच को सहराया जाएगा।

मिथुन राशि अक्टूबर माह में व्यापार के लिए अति शुभ फलदायक रहेगी। व्यापार खूब फले फूलेगा नई योजनाएं बनेंगी जो सफल रहेगी। व्यापार को बढ़ाने के लिए और उसे सफल करने के लिए व्यापारिक संस्थान पर पूजा स्थान का बनना और उसको साफ रखना और वहाँ देसी घी की ज्योत जगाना नेक फलदायक होगा। जिससे आपकी प्रसन्नता और बढ़ेगी।

मिथुन राशि वालो को अक्टूबर मास में अपना मान सम्मान बचाने के लिए संघर्ष करना पड़ेगा। अपने हक के लिए भी आपको संघर्ष करना पड सकता है । इस मास मे खर्चा ज्यादा रहेगा जो मन को प्रसन्नता देने वाला ना होगा। घर की छत पर पड़ा पुराना टूटा हुआ फर्नीचर उतार बाहर करना सब कष्टों में बचाने मे सहायक होगा।

कर्क राशि


ग्रह और नक्षत्रों की शुभ युति के कारण कर्क राशि अक्टूबर मार्च में शुभ फलदायक होगी। तखत पति राहु के प्रभाव के कारण पूरा मास यात्रा और चंचलता साथ रहेगी। अच्छी समझ होने के बाद भी निर्णय करने आसान नहीं रहेगे। निर्णय को बार-बार बदलने से आप आपने व्यक्तित्व का कम प्रभावी रूप बनाए रखेंगे। परंतु अंत में निर्णय प्रभावशाली ही रहेंगे।  

19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 अक्टूबर बुधवार तक पंचको का समय है। इस समय में यात्रा ना करें और बडे आर्थिक निर्णय लेने में संकोच करें तो फल शुभ रहेगा। 6 अक्टूबर शनिवार चंद्रमा का सिंह राशि में प्रवेश काफी सारी अनिश्चितताओं को विराम लगा कर आपकी सफलता का सूचक बनेगा। 4 अक्टूबर बृहस्पतिवार दो सूखे नारियल किसी धार्मिक स्थान पर दान करना सभी कष्टों से बचाए रखेगा।

आपको अब आपने जीवन की वास्तविकता देखने की आवश्यकता है। ध्यान रहे आप भ्रम और पुराने ढांचों के जाल में ना फंस जाएं। आप इन बातों पर विचार करने लगते हैं क्या शुभ है ,   क्या अशुभ है,और आप क्या चाहते हैं क्या नहीं। इन सब बातो से निश्चित ही भ्रम पैदा होते हैं। जो आपके जीवन के सत्य को आपसे दूर ले जाते हैं। समय है विश्राम कर मन के पार जाकर आंतरिक सत्य को जानने का और परिवार के साथ खुशियां बांटने का।

कर्क राशि अक्टूबर मास में धन के लिए अति शुभ रहेगी। धन की प्राप्ति निर्विघ्न होती रहेगी। थोड़ी थोड़ी मात्रा में धन निरंकार आता रहेगा। मित्रों के पास रुका हुआ धन वापस मिलेगा। दबे हुए रुके हुए पैसे मिलेंगे। 17 अक्टूबर बुधवार सूर्य का तुला राशि में प्रवेश आप के लिए नये धन के द्वार खोलेगा। राज दरबार में रुके हुए सारे काम पूर्ण होंगे। राजदरबारी लोगों से मित्रता बढ़ेगी जो आपको धन लाभ कराने में सहायक रहेगी। अक्टूबर मास में शेयर बाजार लाभकारी रहेगा।  इस मास में आर्थिक स्वतंत्रता का आनंद उठाएंगे।

कर्क राशि अक्टूबर माह में मित्रों के संग आनंद मनाने का समय है। नए मित्र बनेंगे। मित्र राज दरबार से संबंधित और प्रभावी रहेंगे। जो समय पर काम आएंगे। वाहन का योग बना हुआ है और वाहन की प्राप्ति होगी। वाहन के ऊपर खर्च होगा। एकाउंट्स में विशेष रुचि रहेगी इसके प्रति कार्य करते हुए प्रतिष्ठा भी प्राप्त होगी। 6 अक्टूबर शनिवार बुध का तुला राशि में प्रवेश आपकी सोच को एक नया आयाम मिलेगा जो नेक भविष्य में आने वाले समय में फलकारी होगा।

कर्क राशि इस मास में परिवारिक स्थिति को  शुभ अवस्था मे रखेगी। बृहस्पति की स्थिति कर्क राशि में इस मास अत्यंत प्रभावशाली रहेगी अब धर्म के प्रति आपकी रुचि आपकी सफलता का सूचक बनेगी। जमीन जायदाद मिलेगी। जददी जायदाद में रुका हुआ हिस्सा प्राप्त होगा। इस मास में विपरित के प्रति आपका आकर्षण बढ़ेगा। जो परिवारिक स्थिति के लिए ज्यादा सुखद ना होगा। बेहतर होगा पराई आग घर ना लाई जाए।

11 अक्टूबर बृहस्पतिवार गुरु का वृश्चिक राशि में प्रवेश पारिवारिक स्थिति में अत्यंत शुभ फल देगा। दीवान खाना और शयन कक्ष दोनों को सुंदर बनाने और सजाने की कोशिशें होंगी जो सफल रहेगी। पराई ममता की आग से बचने के लिए तांबे का सिक्का छिद्र वाला बहते पानी मे डालना इस बला से आपका बचाव करता रहेगा।

कर्क राशि अक्टूबर मास में विद्या के लिए ज्यादा शुभ फल की ना रहेगी। विद्या के संदर्भ में यह मास में अनिश्चितताओं का दौर रहेगा। परीक्षाओं का दबाव रहेगा जो कोई लाभदायक ना होगा। 16 अक्टूबर मंगलवार शुक्र का वक्री होना आपकी विद्या के लिए शुभ संदेश लेकर आएगा। विद्या पूर्ण होगी और विद्या के तलक में रुके हुए कार्य पूर्ण होंगे। उच्च विद्या प्राप्ति के लिए निर्णय लिया गया सफल रहेगा। इस मास प्रेम संबंध कोई नेक फल देने वाले ना होंगे। विद्या में रुकावटों को दूर करने के लिए एक किलो गुड किसी धार्मिक स्थान पर दान करने से निश्चित तौर पर सफलता में सहायता होगी।

कर्क राशि अक्टूबर माह में शत्रु पक्ष दबा और डरा रहेगा। कोर्ट कचहरी के मामले निश्चित तौर पर आप के हक में रहेंगे। 10 अक्टूबर बुधवार नवरात्रों का प्रारंभ होते ही शुभ समाचार आएगा जो ऋण मुक्ति का और शत्रु पक्ष पर विजय का सूचक होगा। इस मास में व्यायाम में रुचि रहेगी। जिसके लिए किया गया खर्च भविष्य में नेक फल पैदा करेगा। शत्रु पक्ष पर विजय प्राप्ति के लिए एक किलो माह साबत किसी धार्मिक स्थान पर दान करना शुभ फल पैदा करेगा।

कर्क राशि अक्टूबर मास में परिवारिक स्थिति  जीवनसाथी के संबंध में कोई ज्यादा लाभकारी ना रहेगी। इस मास मतभेद और बढ़ेंगे और आप शक के दायरे में रहेंगे। जिससे आपसी मनमुटाव बड़ेगा। जीवनसाथी के साथ जीवन मे अस्थिरता रहेगी। परंतु शीघ्र ही 24 अक्टूबर बुधवार शरद पूर्णिमा के बाद चंद्रमा का मेष राशि में प्रवेश स्थिति में निश्चित तौर पर सुधार लाएगा। जीवनसाथी के साथ संबंध मधुर होंगे। जो नेक फल पैदा करेंगे। मंदे समय में बचाव के लिए मीठा बदाना किसी धार्मिक स्थान पर दान करना जीवनसाथी के साथ संबंधों को मधुर करने के लिए सहायक होगा।

कर्क राशि अक्टूबर माह में स्वास्थ्य लाभ मे ज्यादा शुभकारी ना रहेगी। पुराने रोग फिर उभर कर सामने आएंगे और आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक रहेगे। 6 सितंबर बृहस्पतिवार शनि का मार्गी होना आपके स्वास्थ्य के लिए कोई शुभ अवसर का नही रहा है। बुरे समय से बचाव के लिए इस मास में चमड़ी के काले जूते खरीदना ना करें और उपाय के तौर पर पुराने जूते धार्मिक स्थान के अहाते में छोड़ के आने से आप आश्चर्यजनक रूप से स्वास्थ्य लाभ करेंगे। रीड की हड्डी पर और टांगों पर कष्ट रहेगा। 30 अक्टूबर मंगलवार अहोई माता के व्रत के बाद स्थिति में निश्चित तौर पर सुधार होना शुरू होगा और शीघ्र ही आप स्वास्थ्य को प्राप्त करेंगे और लंबी आयु का सुख भोगेगे।

कर्क राशि वालों की अक्टूबर मास में धार्मिक कार्यों की रुचि बनी रहेगी। घर पर छोटे-छोटे धार्मिक उत्सव होते रहेंगे। धार्मिक कार्यों को परिवार सहित आंनद से मनाया जाएगा जो पारिवारिक स्थिति और आपकी धन की स्थिति को सुदृढ़ करेंगे। धार्मिक कार्यों में तन मन धन से आपकी सम्मिलित आपके प्रशंसनीय  कार्य समाज में आप को एक प्रतिष्ठित व्यक्ति के तौर पर प्रस्तुत करेंगे। भाग्य साथ देगा सफलता पूर्वक जीवन यापन रहेगा।

कर्क राशि  वालों का अक्टूबर मास में व्यापार कोई ज्यादा तरक्की पर नहीं रहेगा। व्यापारिक कार्य रुक रुक कर धन लाभ देंगे,19 अक्टूबर शुक्रवार विजयदशमी के बाद निश्चित तौर पर भाग्य साथ देगा और व्यापार उन्नति पर रहेगा। नयीं व्यापारिक  की योजनाएं बनेगी जो सफल रहेंगी। मिलकर कार्य करना और साझेदारी नेक फल देगी। इस मास धन की वृद्धि के लिए ढाई किलो दूध किसी धार्मिक स्थान पर दान करना समस्त मास नेक फल देगा। खर्च की दृष्टि मे यह मास नेक फल का रहेगा।

सिंह राशिफल


ग्रहों और नक्षत्रों की शुभ युति के कारण सिंह राशि अक्टूबर माह में शुभ फल देने वाली होगी। इस माह मे आप के लिए गए निर्णय शुभ फल देने वाले होगे। आप के निर्णय सभी को मान्य रहेंगे। 19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 अक्टूबर बुधवार तक पंचकों का समय है। इस समय में उधारी ना लें और शत्रुता मे कोर्ट कचहरी  शुरू ना करें तो शुभ फल रहेगा। सूर्य की स्थिति शुभ होने के कारण इस मास सिंह राशि वाले जीवन का भरपूर आनंद उठा पाएंगे और मन प्रसन्न रहेगा। सफलता साथ देगी।

सिंह राशि वालों के लिए धन की व्यवस्था इस माह में शुभ फल देने वाली है। रुका हुआ और दबा हुआ धन निर्विघ्न आता जाएगा। संपूर्ण मास धन की कमी ना रहेगी।  इस माह में मिट्टी के गमले मिट्टी की मूर्तियां और मिट्टी के खिलौने घर पर नये लाना निषेध रहेगा। इस माह में नए घर में फूलों वाले पौधे लगाना शुभ संकेत होगा।

2 अक्टूबर मंगलवार महालक्ष्मी व्रत की पूजा के बाद ग्रहों में आई तब्दीली से निश्चित तौर पर स्थिति में सुधार होगा। और जीवन साथी का स्वास्थ्य लाभ को प्राप्त होना शुरू होगा। मदे  समय में उपाय के लिए स्कूली बच्चों को टाफीया बाटने से धन मे लाभ और जीवन साथी के स्वास्थ्य के लिए शुभ फल पैदा होगा।

अक्टूबर माह में अपके भीतर पैदा हुआ संतुलन आपको एक साक्षी भाव से भर देगा। यह एक चुनौती भरा समय है क्योंकि इस समय आप जो कर रहे हैं उसके लिए आपको इसी समय में समग्रता से होने की आवश्यकता है। आप इस जीवन के महासागर में सरलता से तर सकते हैं। यदि आप अपने पूर्व ग्रहों के प्रभाव आलस्य को छोड़ पाए। यह समय धन के पीछे भागने का नहीं धर्म के साए में रहने का है। समय है अपनी सक्रियता को किसी हालत में ना छोड़ा जाए तो भविष्य में नेक फल पैदा होगा।

सिंह राशि में अक्टूबर मास मित्रों की संख्या निश्चित तौर पर बडने वाली है। मित्रों के साथ बिताया हुआ समय सुख पूर्वक बीतेगा। नए मित्र बनेंगे जो प्रभावशाली होगे और समय पर काम आएंगे। इस मास आप का विपरीत के प्रति आकर्षण भी बढ़ेगा। जो आपको प्रसंता देने वाला होगा। वाहन का सुख बना रहेगा और वाहन को सुंदर बनाने के लिए यतन होते रहेगे।

अक्टूबर मास में सिंह राशि वाले नेक परिवारिक  स्थिति का कुछ ज्यादा आनंद ना उठा सकेगे। यात्रा के कारण परिवार से दूर रहना हो सकता है। परिवारिक स्थिति में अपने से छोटों से कुछ जायदाद को लेकर मनमुटाव रह सकता है।11 अक्टूबर गुरुवार  बृहस्पति का वृश्चिक राशि में प्रवेश निश्चित तौर पर परिवारिक स्थिति को सुदृढ़ करेगा और मनमुटाव कम होगा।

समझौते की स्थिति पैदा होगी। घर को सुंदर बनाने की योजनाये  या नए सिरे से बनवाने की यतन शुरू हो जायेगे। जो फलदाई रहेंगे। परिवारिक स्थिति मे निरंतर सुधार के लिए  एक किलो गुड 5 मंगलवार किसी धार्मिक स्थान पर दान देना शुभ फल पैदा करेगा।

सिंह राशि अक्टूबर माह में विद्या के लिए कोई शुभ फलदायक ना होगी। विद्या में रुकावटें और विद्या में ध्यान ना लगना आम बात होगी। विद्या के संदर्भ में आने वाले नतीजे कोई नेक फल के ना होगे। 10 अक्टूबर बुधवार नवरात्रों के प्रारंभ से ही से हुई सितारों की तबदीली आपके लिए शुभ समाचार लेकर आएगी। विद्या की अड़चनें अब दूर होगी। उच्च विद्या प्राप्ति के लिए आप का रास्ता प्रशस्त होगा।

प्रेम संबंध इस मास में आपकी छवि को खराब करने में अपना योगदान पा सकते है। सावधान रहें। पराई ममता से दूर रहे। बच्चों का स्वास्थ्य इस माह में कुछ नरम रह सकता है। बुरे समय से बचाव के लिए मुट्ठी भर लकड के छिलके वाले बदाम किसी धार्मिक स्थान पर सप्ताह में एक बार तीन सप्ताह देना सभी विघ्न को दूर करेगाऔर कार्य की संपूर्णता में सहायक होगा।

सिंह राशि अक्टूबर मास में शत्रु पक्ष  दबे और डरे रहेगे। आपकी बाक चतुरता अपना मान-सम्मान बचाए रखने के लिए सहायक होगी। शत्रु मित्रता वाला भाग प्रकट करते हुए भी शत्रुता ना छोड़ेंगे। शत्रु से मित्रता करनी निसंदेह मानहानि का कारण बनेगी। शारीरक व्यायाम करना इस माह में कोई नेक फल का ना होगा। शारीरक कष्ट होगा।  शुक्रवार विजयदशमी के उपरांत ग्रहों की तब्दीली से भाग्य पक्ष मे रहेगा। कोर्ट कचहरी के मुकदमो में विजय श्री साथ देगी। एक किलो काले तिल मंदे समय में धार्मिक स्थान पर दान करना नेक फल प्रदान करेगा।

सिंह राशि अक्टूबर मास में जीवन साथी का साथ कोई शुभ असर का ना होगा। जीवनसाथी से कुछ समय मतभेदों को लेकर मनमुटाव रहेगा जो परिवारिक स्थिति के लिए शुभ ना होगा। जीवनसाथी का शकी स्वभाव परिवारिक स्थिति को नेक ना होने देगा। 13 अक्टूबर शनिवार शुक्र का अस्त होना परिवारिक स्थिति को सुखद करेगा। निश्चित तौर पर स्थिति में सुधार होगा। परिवार मे जीवन साथी के साथ संबंध मधुर होने शुरू हो जाएगे। मंदे समय से बचाव के लिए एक किलो काले तिल किसी धार्मिक स्थान पर दान करना निश्चित तौर पर स्थिति को नेक करने में सहायक होगा।

सिंह राशि का अक्टूबर माह में सेहत के तलक में नेक फल ना होगा। सिंह राशि में शुक्र की स्थिति के कारण इस माह छाती और पेट की तकलीफ रहेगी। 16 अक्टूबर मंगलवार शुक्र के वक्री होते ही निश्चित तौर पर स्थिति में सुधार होना शुरू होगा। सेहत को आराम होगा। मंदे समय में गौशाला में हरा चारा डालना नेक फल पैदा करेगा।

सिंह राशि में अक्टूबर माह में धर्म के प्रति रुचि कम रहेगी। धार्मिक कार्यों के लिए अवरोध पैदा होंगे। लेकिन गुप्त तरीके से धन द्वारा धार्मिक कार्यों में सहयोग देते रहेंगे। इस मास आपका व्यापार उन्नति पर रहेगा। नयी व्यापार की योजनाएं कामयाब रहेंगी। नया व्यापार शुरू होगा और व्यापार में नए तरीके कारामद रहेंगे।


नौकरी के संबंध में यह मास कोई नेक फल देने वाला ना होगा। कार्य ठीक होते हुए भी सीनियर अफसर  की नाराजगी सहनी पड़ सकती है। 24 अक्टूबर शुक्रवार बुध का वृश्चिक राशि में प्रवेश निश्चित तौर पर स्थिति में सुधार करेगा और नौकरी में आपके द्वारा किए गए कार्य पूर्ण होंगे  और आपके कार्य को सहराया जाऐगा।

कन्या राशि


शुभ ग्रहों और नक्षत्रों की युति के कारण यह मास कन्या राशि वालों के लिए शुभ और सहजता से बीतेगा। तखत पर सूरज और बुध की उपस्थिति इस मास में सब कष्टों को खत्म कर शुभ फल देगी। सभी ग्रह महीने के शुरू से ही बालिग रहेंगे और नेक फल देंगे। आप के निर्णय सर्वसम्मति से सबको मान्य होगे और सफलता से पूर्ण होंगे। 19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 अक्टूबर बुधवार तक पचंको का समय है। इस समय परिवार में विद्या से संबंधित कोई नया कार्य शुरू ना करें तो नेक फल प्राप्त होगा। कन्या राशि वालो को इस माह आपनी बुद्धिमता से राज दरबार से मान सम्मान प्राप्त होगा।

आप इस माह में अपनी उग्रता का उपयोग आप अपने लोगों को अपने से दूर करने के लिए कर रहे हैं। ताजो आपको उनके दूर जाने की पीड़ा और ना भुगतनी पड़े। वास्तव में आप ऐसा करके अपने और अपने परिवार जनों के आनंद को अपने से वंचित कर रहे हैं। समय है सभी तनावओं और नकारात्मकता सोच को दूर कर जीवन का सही आनंद उठाएं। तभी आप  जीवन के महासागर से सरलता से तर सकते हैं। आप इस आनंदमय जीवन को गले से लगा कर इस जीवन उत्सव मे नृत्य करने के लिए इस माह में तैयार रहे।

कन्या राशि धन की व्यवस्था के लिए अक्टूबर माह में शुभ फल देगी। रुका हुआ दबा हुआ धन निर्विघ्न प्राप्त होगा। धन के आने के नए जरिए बनेंगे। स्त्री धन फलेगा। जीवनसाथी का स्वास्थ्य नेक फल देगा। पिछले समय से चली आ रही धन प्राप्ति में रुकावटें अब खत्म होने को होगी। 6 अक्टूबर शनिवार बुध का तुला राशि में प्रवेश धन की अवस्था के लिए कोई ज्यादा शुभ फलदायक ना होगा। किसी साथी की सलाह से धन का नाश होगा। इस मास में मिट्टी या धातु की दुर्गा की मूर्ति घर पर खरीद करना लाना  शुभ फल पैदा ना करेगा। किसी फकीर से भभूत का लेना अशुभ असर करेगा बेहतर होगा इन चीजों से दूर रहा जाए। मदे समय के लिए हरे रंग की मूंग साबुत दाल एक किलो बहते पानी में डालना नेक असर पैदा करेगा।

कन्या राशि मे अक्टूबर माह मित्रों की संख्या निश्चित तौर पर कम रहेगी। कुछ मित्र साथ छोड़ जाएंगे और कुछ मित्र नये बनेंगे। 11 अक्टूबर गुरुवार बृहस्पति का वृश्चिक राशि में प्रवेश आपके पक्ष मे नेक फल दायक रहेगा। नए मित्र प्रभावशाली होगे। उनसे आप मान-सम्मान पाओगे । शेयर बाजार इस माह में आपको लाभ देने वाला होगा। धन लाभ मे शुभ खबर प्राप्त होगी जो आपको और आपके परिवार को आश्चर्यचकित और खुश करेगी।

कन्या राशि मे अक्टूबर माह परिवारिक स्थिती नेक नहीं रहेगी। अपनों से बड़ों से विचारिक मतभेद रहेगे। इस मास में जमीन पर रेगने वाले जानवरों की घर पर तादाद बढ़ जाएगी। 17 अक्टूबर बुधवार सूर्य का तुला राशि में प्रवेश परिवारिक स्थिति को नेक करने में सहायक होगा। परिवार मे अनिश्चितता का समय अब खत्म होगा। इस मास में घर पर फर्श लगवाने का कोई नया काम ना करवाएं। मंदे समय में एक किलो माह  साबत की दाल किसी धार्मिक स्थान पर दान करना शुभ असर पैदा करेगा और परिवारिक स्थिति में शांति पैदा होगी।

कन्या राशि अक्टूबर माह में विद्या के संदर्भ में नेक फल ना देनेे वाली है। विद्यार्थियों के उत्तीर्ण होने में कमी रहेगी। विद्या प्राप्ति के लिए संघर्ष करना पड़ेगा। 26 अक्टूबर शुक्रवार बुध का वृश्चिक राशि में प्रवेश विद्या के संदर्भ में अनिश्चितता को कम करेगा। लेकिन केतु की राशि में टेड़ी स्थिति के कारण विद्या में सफलता के लिए दोबारा से कोशिशें करनी पड़ेगी। जो आगे समय में आपको सफल करेगी। उच्च विद्या प्राप्ति हेतु संघर्ष रहेगा जिसके लिए काले तिल एक किलो धार्मिक स्थान पर दो रविवार देने से शुभ असर पैदा होगा।

कन्या राशि मे अक्टूबर मास शत्रु पक्ष डरा और दबा रहेगा। शत्रु सामने आने का साहस ना कर पाएगा। कोर्ट कचहरी के मामले हक में होंगे। शत्रु को मित्र बनाने का प्रयास या अपने घर रखने की कोशिशे आपको असफलता ही देंगी। शत्रु पक्ष से दूरी बनाए रखना ही नेक फल का रहेगा। इस मास  में ऋण प्राप्त करने में सफलता रहेगी जो नेक फलदायक होगी। 15 और 16 अक्टूबर को रात का सफर ना करें तो नेक फल रहेगा। मंदे समय से बचाव के लिए एक किलो दूध बहते पानी में डालना राज दरबार में विजय श्री दिलाने में मददगार होगा।

कन्या राशि मे जीवन इस मास जीवन साथी के साथ नेक फलदायक रहेगा। जीवनसाथी का भाग्य आपके भाग्य को सहायक होगा। इस मास जीवनसाथी का स्वास्थ नेक फलदाई रहेगा। छाती के रोग कुछ तंग करेंगे लेकिन 17 अक्टूबर गुरुवार बृहस्पति का वृश्चिक राशि में प्रवेश सारी अनिश्चितताओं को खत्म कर नेक फल पैदा करेगा। जीवनसाथी स्वास्थ्य को प्राप्त होगा और धन प्राप्ति के लिए यह उपयुक्त समय रहेगा। इस मास में लाटरी सट्टा और किसी लावलद की जयदाद  मिलने के योग है।

कन्या राशि इस माह में सेहत के संदर्भ में कम फलदायक रहेगी। आपके पेट में और पांव में तकलीफ होगी। 19अक्टूबर शुक्रवार विजयदशमी के बाद ग्रहो में हुई तब्दीली से सेहत में निश्चित तौर पर सुधार होगा और आप स्वास्थ्य को लाभ को प्राप्त होंगे। मंदे समय के लिए एक किलो गुड किसी धार्मिक स्थान पर दो मंगलवार देने से स्वास्थ्य लाभ में मददगार होगा। रसोई खाना मे रोशनी के उपकरण खराब होते ही ठीक करवा लेने से नेक फल पैदा होगा।

कन्या राशि मे अक्टूबर माह धर्म के लिए तन मन धन से आपकी हुयी सम्मिलिता आपके व्यक्तित्व को निखार कर प्रस्तुत करेगी। धर्म से जुड़े रहना इस माह में नेक फल देगा। घर पर धार्मिक कृत्य होंगे और आप धार्मिक कृत्यों में धन द्वारा सहायता दे कर अमूल्य आशीर्वाद प्राप्त करोगे।20 अक्टूबर से 23  तक यात्रा रहेगी। घड़े बराबर मोती होगा। जो नेक फलदायक होगा। बिन मांगे ही सब कुछ हाजिर होगा। इस माह में किसी धार्मिक स्थान पर जाकर सर झुकाना सब कष्टों से मुक्ति देता रहेगा।

अक्टूबर मास  कन्या राशि मे व्यापार के संदर्भ में नेक फल रहेगा। काफी समय से रुकी हुई व्यापारीक  योजनाएं इस माह में कार्यवृत हो जाएंगी। व्यापार फलेगा। धन की आमद नेक रहेगी। व्यापार की योजनाएं सफलतापूर्वक काम करेंगी। नौकरी मे यह मास नेक फल देने वाला होगा। तरक्की होगी और उच्च अधिकारियों की तरफ से आपके कार्य के लिए आपको सम्मान मिलेगा। जो आगे चलकर भविष्य में नेक फल पैदा करेगा।

इस मास में खर्च पर अंकुश रहेगा और मन प्रसन्न रहेगा।इस मास किसी धार्मिक व्यक्ति को श्रद्धा भाव से मान सम्मान देना  धन के नए स्रोत खोलेगा। गौ सेवा लाभ देगी।

तुला राशिफल


तुला राशि अक्टूबर माह में ग्रहो और नक्षत्रों की शुभ युति के कारण आपके लिए भाग्यशाली रहेगी। तखत पर बृहस्पति और शुक्र की उपस्थिति नेक फलदायक रहेगी। इस माह आप अपनी बुद्धिमता से विद्या की रोशनी में निर्णायक निर्णय लेते हुए सफल रहेंगे। आप के निर्णय समाज और परिवार में सर्वमान्य रहेंगे और आपकी इस उत्कृष्ट कार्य के लिए आपकी प्रशंसा होगी।

19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 अक्टूबर बुधवार तक पंचको का समय है इस समय में व्यापार के लिये यात्रा और घर के लिये नई कंस्ट्रक्शन की शुरुआत ना करें तो शुभ फल होगा। इस मास में सुंदर कपड़ों की प्राप्ति शुभ असर की होगी।

तुला राशि अक्टूबर माह में धन के लिए शुभ असर पैदा करेंगी। धन की प्राप्ति निर्विघ्न होगी और रुका हुआ दबा हुआ धन प्राप्त होगा। जायदाद के लिये संघर्ष करना पडेगा और अंत में जायदाद की प्राप्ति होगी। जीवनसाथी का स्वास्थ्य इस माह कष्ट में रहेगा। 10 अक्टूबर बुधवार नवरात्रों के आरंभ  से ग्रहों में हुई तब्दीली से जीवन साथी के स्वास्थ्य में निश्चित तौर पर सुधार होगा।

मंदे वक्त में बचाव के लिए एक किलो काले तिल किसी धार्मिक स्थान पर दान करना धन प्राप्ति और जीवन साथी के स्वास्थ्य लाभ के लिए लाभदायक रहेगा।

अक्टूबर माह आपनी दूसरों से तुलना करने के लिए उपयुक्त समय नहीं है। यदि संभव हो आप अपनी ऊर्जा अपनी संभावनाओं को पूरा करने में लगाएं। आप एक आदित्य व्यक्ति की भांति कार्य करते हुए सफलता को प्राप्त होगे। यह समय विश्राम का नही है।आप अपने विवेक और अपनी कार्य के क्षमता के बल पर आपकी चेतना के शिखरों को छू सकते हैं।समय है विवेचनात्मक मनसे पार जाकर अपनी आंखों पर भ्रम के पदों को हटाने का। ताकि प्रेम  एव सृजन में ही आप अपना वास्तविक चेहरा देख सके।

तुला राशि मे अक्टूबर माह  मित्रों की संख्या अचानक बढ़ेगी। कुछ नए मित्र बनेंगे जो प्रभावशाली होगे। मित्र समय पर काम आएंगे। यह मास पुराने मित्रों के मिलाप के लिए और परिवारिक स्थिति को सुदृढ़ करने के लिए शुभ असर का रहेगा। राशि में शनि की शुभ स्थिति के कारण वाहन आदि खरीदने की योजनाएं बनेंगी जो अभी योजनाएं भी रहेगी।

शीघ्र ही कुछ समय बाद वाहन की प्राप्ति अवश्य होगी। 17 अक्टूबर बुधवार सूर्य का तुला राशि में प्रवेश अनिश्चिताओं को खत्म करता हुआ आपको सौभाग्य की ओर ले जाएगा।

तुला राशि अक्टूबर माह में परिवारिक स्थिति कोई ज्यादा सुखद ना होगी। मंगल की स्थिति तुला राशि में केतु के साथ होने के कारण परिवारिक सदस्यों से ना चाहते हुए भी मनमुटाव रहेगा। यह मनमुटाव अलग-बाद तक जा पहुंचेगा। 16 अक्टूबर मंगलवार शुक्र के वक्री होते ही  स्थिति में निश्चित तौर पर सुधार होगा। परिवारिक सदस्यों से मनमुटाव कम होगा।

परंतु स्थिति में फिर भी बहुत ज्यादा सुधार ना होगा। परिवारिक स्थिति में सुधार के लिए चार सूखे नारियल ललेर पूजा वाले किसी धार्मिक स्थान पर दान करना परिवारिक कष्टों को कम करेगा और सुखद की स्थिति उत्पन्न होगी।

तुला राशि अक्टूबर माह में विद्या के संदर्भ में कोई नेक असर की ना होगी। विद्या में संपूर्ण सफलता की प्राप्ति का समय ना होगा। राहु की स्थिति राशि में अनुकूल ना होने के कारण विद्या के प्रति निर्णय करने संभव ना रहेंगे। विद्या प्राप्ति में विघ्न रहेगे। विद्या को पूरा करने में मुश्किल रहेगी।

10 अक्टूबर बुधवार नवरात्रों के आरम्भ से ग्रहों में तब्दीली से विद्या के संदर्भ में नेक फल होना शुरू हो जाएगा। उच्च विद्या प्राप्ति हेतु मार्ग प्रशस्त होगा और आपका चयन उच्च विद्या प्राप्ति के लिए सुगमता से हो सकेगा। इस मंदे समय मे उपाय के लिए एक किलो मांह साबत दाल किसी धार्मिक स्थान पर दान करना विद्या के संदर्भ में शुभ फल पैदा करेगा।

तुला राशि मे अक्टूबर मास शत्रु पक्ष दवा और डरा रहेगा। शत्रु दबाव के कारण पवित्रता वाला भाव प्रकट करेगा। शत्रु पक्ष आपकी प्रतिष्ठा से प्रभावित होकर आप से झगड़ा नहीं चाहेगा। कोर्ट कचहरी के मामले इस माह में समाप्त होंगे। यह मास ऋण मुक्ति के लिए उपयुक्त समय है। किसी धार्मिक स्थान पर जाकर देसी घी का दिया जलाना अति शुभ फल पैदा करेगा।

यह मास कष्टों को दूर कर नेक फल पैदा करेगा। इस माह मे शुक्र की उच्च दशा के कारण विलासता और अत्यधिक सजावट की वस्तुओं में रुचि रहेगी।

तुला राशि वालो का अक्टूबर माह में जीवन साथी का साथ बना रहेगा। सैद्धांतिक मतभेद होने के बावजूद परिवारिक स्थिति शुभ रहेगी। जीवनसाथी का भाग्य और उसकी सलाह आपको करामद रहेगी। नौकरी के पक्ष में यह मास शुभ फल देने वाला है। नौकरी मे अपने कार्य के अलावा अतिरिक्त कार्यभार आपको निभाना पड़ेगा जो फलदाई रहेगा।

सीनियर अफसर आपके कार्य को सहरायेगे। इस मास  बैठक खाना मे रोशनी देने वाले उपकरण खराब होने पर तुरंत ठीक करा ले इस से परिवारिक स्थिति सुखद बनी रहेगी। एक किलो गुड किसी धार्मिक स्थान पर दान करना आपसी मनमुटाव को खत्म करेगा।

अक्टूबर मास तुला राशि में चंद्रमा की स्थिति उपयुक्त ना होने के कारण स्वास्थ्य के लिए कोई ज्यादा शुभकारी ना रहेगी। छोटी-छोटी तकलीफे रहेगी। माता की सेहत खराब रहेगी और मन उदास रहेगा। नकारात्मक सोच बनी रहेगी जो मानसिक स्थिति के लिए शुभ ना होगी। इस मास बुध की दशा के कारण प्यास कम रहेगी जो किसी अच्छे शुभ का सूचक होगी। एक किलो मूंग साबुत दाल बहते पानी में डालना सेहत के पक्ष में शुभ फल पैदा करेगी और नेक स्वास्थ्य प्राप्त होगा।

अक्टूबर माह तुला राशि वालो के स्थान पर धार्मिक अनुष्ठान होते रहेंगे। धार्मिक अनुष्ठानों में खर्चा करते हुए समाज में और परिवार में मान सम्मान पाओगे। परंतु ज्यादा खर्च करने से बचें। खर्च की योजनाएं बनती रहेंगी परंतु उन योजनाओं को अमल में ना लाने से नेक फल होगा।

वृश्चिक राशि


वृश्चिक राशि अक्टूबर माह में ग्रह और नक्षत्रों की शुभ युति के कारण शुभ फलदायक रहेगी। राशि में बृहस्पति की स्थिति प्रभावी होने के कारण सारे कार्य इस माह में सफलतापूर्वक पूर्ण होंगे। आप के लिए गए ठोस निर्णय कुछ समय उपरांत ही सर्वमान्य होंगे। आपके निर्णय सबको प्रभावित करने वाले होंगे। 19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 अक्टूबर बुधवार तक पचंको  का समय रहेगा।

इस समय में परिवार में कोई उत्सव करना और नई रिश्तेदारी की शुरुआत ना करें तो शुभ फल होगा। आप अपने कार्य प्रबंधक की क्षमता से नेतृत्व करते हुए समाज में मान-सम्मान पाओगे।  6 अक्टूबर शनिवार बुध का तुला राशि में प्रवेश आपकी धन की व्यवस्था को खराब करेगा। अचानक धन का व्यय बढ़ जाएगा। मंदे समय से बचने के लिए हरे रंग की मूंग साबुत दाल एक किलो बहते पानी में डालना शुभ फल का होगा।

इस माह आप सृष्टि के उपहार के कारण सकारात्मक ऊर्जा से जीवांत और खिले हुए है। आप अपने  हृदय और प्रकृति अस्तित्व के साथ लाइववृद्ध होने के कारण आपके लिए इस माह हर दिशा से आनंद की वर्षा होगी। अपने भीतर उदय होते आनंद को सकारात्मक ऊर्जा के रूप में  आप खुद और अपने लोगों को आनंदित करने में सक्षम रहेंगे। किसी भी तरह के भौतिक जागरतिक मामलों को आप सहजता से निपटा लेगे।

वृश्चिक राशि अक्टूबर माह में धन की व्यवस्था के लिए कोई ज्यादा शुभ फलकारी ना होगी। शनि की स्थिति धनभाव में होने के कारण धन के लिए रुकावटें पैदा होंगी। अपना धन लेने में भी असुविधा का सामना करना पड़ेगा। परंतु शीघ्र ही 12 अक्टूबर गुरुवार बृहस्पति का वृश्चिक राशि में प्रवेश अत्यंत शुभ फलदायक रहेगा। धन के लिए अब संघर्ष ना करना पड़ेगा। धन प्राप्ति में सुगमता रहेगी और धन का नेक फल होगा। मंदे समय से बचाव के लिए माह साबत दाल किसी धार्मिक स्थान पर दान करना धन की व्यवस्था के लिए फलदाई रहेगा।

वृश्चिक राशि अक्टूबर माह में मित्रों की संख्या अधिक नहीं रहेगी। मंगल के साथ केतु की स्थिति के कारण  मित्रों और परिवारिक सदस्यों से मनमुटाव होगा। मित्रता में स्थिरता ना रहेगी। संबंधों में मिठास कम होगी। 17अक्टूबर बुधवार सूर्य का तुला राशि में प्रवेश मित्रता के नए आयामों की शुरुआत करेगा।

इस मास में वरिष्ठ लोग और सत्ताधारी व्यक्तियों से आपके संबंध बढ़ेंगे। हर काम को सलीके से करने की आपकी बलवती इच्छा रहेगी। आपका विश्वास बहुत बड़ा चढ़ा रहेगा। संचार माध्यम से कोई शुभ समाचार आपको मिलेगा। इस माह मंदे समय से बचाव के लिए गुड़ की तिल वाली रोड़ियां मजदूरो को दान करने से श्रेष्ठ फल उत्पन्न होगा और मन की प्रसन्नता पूरा माह बनी रहेगी।

वृश्चिक राशि अक्टूबर माह में घर की अवस्था के लिए कोई शुभ असर की ना होगी। बंटवारे को लेकर घर में विरोध की स्थिति रहेगी। इस समय अपने भी पराए लगेंगे। सब के अपने-अपने भाव से परिवार में एक विशेष स्थिति उत्पन्न होगी। 24 अक्टूबर बुधवार शरद पूर्णिमा के शुरू होते ही ग्रहों की स्थिति में सुधार होगा और परिवारिक स्थिति परिवर्तन होगी। धनाभाव कम होते हुये भी परिवारिक स्थितियां अनुकूल होनी शुरू हो जाएंगी। मंदे समय के उपाय के लिए सर्व परिवार धन इकट्ठा करके ढाई किलो दूध किसी धार्मिक स्थान पर दान करना कष्ट को कम करेगा।

विद्या के संदर्भ में यह मास नेक फल का ना होगा। विद्या  पूरी तो होगी परंतु मन वांछित योग्यता के अनुसार ना होगी। विद्या प्राप्ति के लिये कई तरह की योजनाएं बनेगी और योजनाओं को कार्यवध करने के लिए काफी समय लगेगा। घर से दूर विद्या प्राप्ति के लिए जाना होगा जो एक असुविधा का कारण भी रहेगा। 11अक्टूबर गुरुवार बृहस्पति का  राशि में प्रवेश सारी अनिश्चितताओं को खत्म कर विद्या के संदर्भ में नया अध्याय शुरू होगा। सफलता साथ रहेगी प्रेम संबंध भी इसी समय में फलदाई रहेंगे और इच्छा अनुसार कार्य होंगे।

अक्टूबर मास वृश्चिक राशि में शत्रु पक्ष आपके खिलाफ कई तरह की कार्रवाई कर सकता है। थाना कचहैरी तक हो सकता है सावधान रहे। राहु की स्थिति अनुकूल ना होने के कारण मित्रों से धोखा प्राप्त हो सकता है। इस माह में घर पर बुझे हुए कोयले और जली हुई लकड़ी और राख का ढेर निकाल बाहर करेगे तो घर से नकारात्मक ऊर्जा खत्म होगी। मंदे समय से बचाव के लिए काले तिल में शक्कर डालकर चीटियों और कीड़ों को डालना मंदे समय से बचाव रखेगा और मान सम्मान बना रहेगा।

चंद्रमा की शुभ अवस्था के कारण वृश्चिक राशि अक्टूबर माह में नौकरी के संदर्भ में नेक फल पैदा करेगी। अब लक्ष्मी खुद-ब-खुद पाओ पकड़ती फिरेगी। 24 अक्टूबर बुधवार शरद पूर्णिमा के बाद से ही धन की आमद अचानक बडेगी और सफलता कदम चूमेगी। जीवन साथी का साथ इस माह में एक ढाल की तरह काम करेगा आपके ऊपर आने वाली सारी मुश्किलें जीवन साथी अपने ऊपर ले लेगा। दूधवाली गाय को आटा डालना शुभ असर का रहेगा भाग्य साथ देगा कार्य में सफलता मिलेगी।

अक्टूबर माह वृश्चिक राशि सेहत के संदर्भ में कोई नेक फल ना देगी। गला छाती के रोग परिवार में रहेंगे। शनि की दृष्टि अनुकूल ना होने के कारण  आस्वास्था लंबी चलेगी। 26 अक्टूबर शुक्रवार बुध का वृश्चिक राशि में प्रवेश सारी मुश्किलों को खत्म करता हुआ आपको तंदुरुस्ती की ओर ले जाएगा। अचानक हुई इस तब्दीली से  स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होगा। परिवार में इलेक्ट्रॉनिक खिलौने खरीद ना करें तो नेक फल रहेगा। मंदे समय मे सेहत के लिए माह की दाल के लड्डू बनाकर किसी विधवा औरत को देना स्वास्थ्य में लाभ देगा।

वृश्चिक राशि वाले  अक्टूबर माह धार्मिक कार्य  मन से ना कर पाएंगे। परंतु धन से सहायता अवश्य करेंगे। आपकी धार्मिक प्राविति होते हुए भी समय की अनुकूलता ना होने के कारण धार्मिक कृतियों में भाग ना ले पाएंगे। शुक्र और राहु की आपसी दृष्टि आपकी श्रद्धा को दुविधा में रखेगी। परंतु धार्मिक कार्यों में धन का दान आपको समृद्धि की और बढ़ाएगा।

वृश्चिक राशि मे इस मास  कारोबार नेक फलदायक रहेगा। व्यापार की अवस्था शुभ रहेगी रुका हुआ माल भी अधिक कीमत पर बिक जाएगा। व्यापार की योजनाएं सफल रहेंगी। व्यापारिक स्थल पर रोशनी का होना और किसी धार्मिक कपड़े का रखा होना शुभ फलदायक रहेगा। व्यापार की वृद्धि के लिए 8 किलो कनक किसी धार्मिक स्थान पर दान करना शुभ फल पैदा करेगा। व्यापार में कि गई तब्दीली का असर अब आपको स्पष्ट नजर आना शुरू हो जाएगा।

इस मास में खर्चे में अधिकता रहेगी सारा खर्च शुभ कार्यों पर ही होगा जो मन को प्रसन्नता देता रहेगा। यह मास विशेषकर देव कृपा से सुख और संपदा से बीतेगा। आपका प्रभाव बढ़ेगा समाज में उत्कृष्ट स्थान की प्राप्ति होगी।

धनु राशि


धनु राशि अक्टूबर माह में ग्रह और नक्षत्रों की स्थिति के कारण आपके जीवन यापन में सहायक रहेगी। बृहस्पति की नेक स्थिति धनु राशि में इस माह अनुकूल होने के कारण आपको मान सम्मान और यथा योग्य स्थान की प्राप्ति होगी। 19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 अक्टूबर बुधवार तक पचकों का समय है। इस समय में किसी को धन उधार ना दे और नई दवाइयां या नया  ईलाज ना शुरू करें तो शुभ फल रहेगा।

इस माह के लिए गए निर्णय प्रभावशाली रहेंगे। आपके निर्णय समाज और परिवार में माननीय रहेंगे। शनि की उपस्थिति लग्न में होने के कारण तंबाकू, मध और व्यभिचार से दूर रहे तो नेक फल रहेगा। घर पर जिन तालो की चाबीया गुम हो गई हो उनको घर से बाहर निकाल करना घर की स्थिति को शुभ फलदाई रहेगा।

अक्टूबर मास धनु राशि मे यह समय आप अपने प्रेम अपने आनंद अपने हास्य को दूसरों के साथ बांटने और अधिक आनंदित होने का है। आप प्रत्येक चरण का आनंद मानने में इस माह सक्षम रहेंगे और उस अपूर्व अनुभूति का अनुभव करेंगे। जो भविष्य में नहीं बल्कि अभी और यहां जीने मे उत्पन्न है। अपने भीतरी और बाहरी ऊर्जा स्रोतों के मिलन से आपके संबंधों एवं कार्य क्षेत्र में एक मधुरता और एक समग्रता का जन्म हो रहा है। आपकी कल्पनाशीलता एव क्रियात्मकता मे संतुलन बनाए रखने पर आप समृद्धि से ओतप्रोत अपने को पाएंगे।

धनु राशि अक्टूबर माह में धन की व्यवस्था के लिए नेक फल की ना होगी। धन आने में रुकावटें रहेगी। धन का आना निश्चित होने पर भी धन कम मात्रा में ही प्राप्त होगा। 11 अक्टूबर गुरुवार बृहस्पति का वृश्चिक राशि में प्रवेश धन के लिए शुभ असर का होगा। धन की प्राप्ति मे रुकावटें अब कम होगी। धन प्राप्ति निर्विघ्न रहेगी। जीवनसाथी का स्वास्थ्य इस माह कष्ट मे रहेगा। पैरों और टांगों में कष्ट होगा। जिसके लिए एक किलो काले तिल किसी धार्मिक स्थान पर दान करना शुभ फल देगा। इस मास शेयर बाजार 17अक्टूबर बुधवार सूर्य का तुला राशि मे प्रवेश के बाद आपको लाभकारी रहेगा। अनानास लाभ होगा। लेखन छापा खाना और मुद्रा विज्ञान में रुचि बढ़ेगी।

धनु राशि अक्टूबर माह में मित्रों की संख्या और मित्रता शुभ रहेगी। नये मित्र बनेंगे जो प्रभावी होंगे और समय पर काम आएंगे। इस मास वाहन आदि के सुख का योग बना हुआ है । वाहन की प्राप्ति होगी जो सुख देने वाली रहेगी। मित्रों से और परिवारिक सदस्यों से पूर्ण सहयोग रहेगा। झुक कर नही रहेगे ।जब झुकना पड़ेगा तब हम नहीं रहेंगे। रहेंगे तो उसके साथ जो हम प्याला और हम निवाला हो। का नुक्ता आप पर इस माह में अपना पूरा असर रखेगा। जो फलदाई भी रहेगा। मंदे समय में एक मुट्ठी बदाम लकडी के छिलके वाले किसी धार्मिक स्थान पर दान करना शुभ असर करेगा।

अक्टूबर माह में धनु राशि परिवारिक स्थिति के लिए किए गए कार्य और लिए गए निर्णय सफलता के साथ पूर्ण होंगे। घर को सुंदर बनाने उसको रंग पेंट करवाने की कार्रवाई में सफलता रहेंगी। बृहस्पति की नेक स्थिति होने के कारण इस मास परिवार को इकट्ठा रखने में सफलता प्राप्त होगी। सर्व ग्रहों  का नेक फल प्राप्त करने के लिये शमशान मंदिर में माथा टेकना नेक फल देगा। बुजुर्गों और पुरखों का आशीर्वाद प्राप्त होगा।


अक्टूबर मास में धनु राशि  विद्या मे नेक फल देगी। रुकी हुई विद्या पूर्ण होगी और विद्या के संदर्भ में शुभ फल रहेगा। विद्या में तकनीकी तबदीली सुखद असर की रहेगी। जो आगे भाग्य में  लाभदायक होगी। उच्च विद्या प्राप्ति के लिए विदेश में यात्रा के योग है जो सफल रहेंगे। इस माह में प्रेम संबंध कोई ज्यादा सफल ना रहेंगे। साथी से मनमुटाव होगा और साथी से दूरी भी पैदा हो सकती है। मंदे समय में उपाय के लिए एक किलो गुड़ किसी धार्मिक स्थान पर दान करना शुभ असर पैदा करेगा।


अक्टूबर माह में शत्रु पक्ष से मन में अनजान भय रहेगा। शत्रु पक्ष तरह तरह की कार्यवाही कर कष्ट पहुंचाने की कोशिशें करता रहेगा। 16 अक्टूबर मंगलवार शुक्र का वक्री होना एक सुखद असर का होगा। अब शत्रु पक्ष भय पैदा ना कर सकेगा और अब शत्रु पर विजय पाना आप के लिए सरल रहेगा। स्थिति में परिवर्तन होगा विजय श्री प्राप्त होगी। मंदे  समय में बचाव के लिए ढाई किलो सफेद चावल किसी धार्मिक स्थान पर दान करना सब कष्टों से बचाता रहेगा।

अक्टूबर माह मे धनु राशि वालो का आपने जीवन साथी से  नेक साथ बना रहेगा। जीवनसाथी का भाग्य और उसकी समझदारी आपके लिए लाभदायक रहेगी। इस माह उस से सलाह करना और उसकी सलाह मानना नेक फल देगा। नौकरी के संबंध में यह मास नेक फलदायक रहेगा। कार्य भार की अधिकता के बाद भी उच्च अधिकारियों की तरफ से मान सम्मान प्राप्त होगा। जो आगे समय में फलदाई होगा। कार्यकुशलता बड़ेगी और अपनी कार्यकुशलता से समाज में और अपने कार्य में गुरु की हैसियत से जाने जाओगे।

धनु राशि अक्टूबर माह में स्वास्थ्य मे लिए कोई नेक फल ना होगा। पेट की खराबी आम बात होगी। 27 अक्टूबर शनिवार करवा चौथ के बाद स्थिति में सुधार होगा और राहु की दृष्टि का ने कसर पैदा होना शुरू होगा। तब स्वास्थ्य में आश्चर्यजनक लाभ होगा और शुभ फल होगा। मंदे समय में बचाव के लिए दो सूखे नारियल ललेर पूजा वाले लेकर किसी धार्मिक स्थान पर दान करना मंदे समय में स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होगे।  इस मास घर पर इलेक्ट्रॉनिक्स स्विच वगैरह जो खराब पड़े हैं उनको घर से दूर करना शुभ फल देगा। अब घर से नकारात्मक ऊर्जा खत्म होगी स्वास्थ्य के लिए शुभ होगा।

अक्टूबर मास धनु राशि में धार्मिक कार्यों के लिए शुभ फलदाई होगी। तन मन धन से धार्मिक कार्यों में आप की सम्मिलिता से आपका समाज में मान सम्मान बढ़ेगा। आपके धन द्वारा दी गई सहायता सहराई  जायेगी। आपकी योजनाएं धार्मिक उत्सव में सफलता से प्रदर्शन करेगी। यह माह व्यापार के लिए समय अति शुभ रहेगा। व्यापार की योजनाएं सफलता पूर्वक कार्य करेंगी। नई योजनाएं बनेंगी जो सफल रहेगी और व्यापार को बढ़ाने के मौके मिलेंगे जो सफल रहेंगे।

व्यय की दृष्टि से यह माह शुभ रहेगा। सारा व्यय इच्छा अनुसार और शुभ कार्यों पर ही होगा। जो मन को खुशी देने वाला होगा। यह मास सामाजिक दृष्टि से और धार्मिक दृष्टि से और धन की दृष्टि से फलदाई रहेगा। स्वास्थ्य भी कुछ समय बाद लाभ देगा।

मकर राशि


मकर राशि अक्टूबर माह में ग्रहों और नक्षत्रों की शुभ युति के कारण शुभ फलदाई रहेगी। लग्न में मंगल की उपस्थिति इस माह आपको अत्यंत प्रभावशाली बना कर रखेगी। परंतु इस माह में किए गए निर्णय आपको बार-बार बदलने पड़ेंगे । बेहतर होगा कि पहले ही समझ से निर्णय किये जाए जो बाद में बदलने ना पड़े और बाद मे  नाहक ही मानहानि का कारण बनें।

19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 ओवर बुधवार तक पंचकों का समय रहेगा। इस माह इस दिनों में महत्वपूर्ण निर्णय ना ले और लंबी दूरी की यात्रा ना करें  तो सुखद फल रहेगा। इस माह गुस्सा गो ज्यादा रहेगा लेकिन दूध के उबाल की तरह होगा जो पानी के डालते ही शांत हो जाता है। दिन की शुरुआत गुड खाकर चंद घूंट पानी पीने कर शुरू करने से निहायती मुबारिक असर होगा।

मकर राशि अक्टूबर माह में धन के लिए कोई ज्यादा शुभ ना रहेगी। धन की आमद कम रहेगी धन रुकता हुआ आएगा। 11 अक्टूबर गुरुवार बृहस्पति के वृश्चिक राशि में प्रवेश के साथ ही निश्चित तौर पर स्थिति में सुधार होगा। धन का आना अब सुगम होगा। जीवनसाथी का स्वास्थ्य इस माह में नेक फल का ना होगा। पीठ का दर्द और पांव में तकलीफ होंगी। मंदे समय में उपाय के  लिए एक किलो माह साबत बहते पानी में डालना शुभ असर का होगा। इस माह में शेयर बाजार आप के फायदे का कम ही रहेगा सावधान से निवेश करें। शेयर बाजार के मुनाफे के लिए कुछ सप्ताह इंतजार करना पड़ सकता है।

इस माह आप के विशिष्ट संबंधों में अपूर्वानंद एक प्रेम का अवतरण होगा। आप अपने भीतर एक उत्सव अनुभव करेंगे। अब आप जीवन का उत्सव मनाने के अवसरों के लिए इस समय उपलब्ध है। आप अपना आनंद दूसरों को बांटने के लिए भी तत्पर है। आपको किसी विशेष उत्सव का आयोजन करने की आवश्यकता नहीं है। आपकी मनोदशा सयम में एक उत्सव जैसी है और मात्र उसमें आपकी सम्मिलिता हो जाए तो जीवन  एक आनंद पूर्वक संतुलन बनाए रखने में सहायक होगा।

अक्टूबर माह मकर राशि मे  बृहस्पति की नेक स्थिति के कारण मित्रों की संख्या बढ़ती रहेगी। सत्तारूढ़ लोगों से मित्रता पड़ेगी और उनसे लगाव बढ़ेगा। मित्र प्रभावी रहेंगे जो समय पर अपने प्रभाव से आपको कार्य सफलता में सहायक होंगे। इस मास में दर्शन शास्त्र, मनोविज्ञान और चिकित्सा शास्त्र मे रूची बनी रहेगी। वाहन का सुख बना रहेगा। वाहन को सुंदर और साफ करने की विशेष कार्रवाईया इस माह में होगी।

अक्टूबर माह मकर राशि मे परिवारिक स्थिति शुरुआत में सुखद ना रहेगी। परिवारिक स्थिति में किसी स्थान को लेकर परिवार में मनमुटाव रहेगा। 24 अक्टूबर बुधवार शरद पूर्णिमा के बाद हुई ग्रहों की तब्दीली से स्थिति में निश्चित तौर पर स्थिति में सुधार होगा और किसी एक परिस्थिति में आपका फैसला सर्वमान्य होगा। अब परिवार में मन मुटाव कम होगा। मंदे  समय में उपाय के लिए काले तिल बहते पानी में डालना परिवारिक स्तिथि को सुधार करने में सहायक होगा।

मकर राशि अक्टूबर माह में विद्या के संदर्भ में फलदाई रहेगी। विद्या उत्तीर्ण होगी। रुकी हुई विद्या भी पूर्ण होगी और उच्च विद्या प्राप्ति हेतु आपका किया गया संघर्ष इस माह में सफल रहेगा। विदेश यात्रा के योग हैं। विद्या से संबंधित विदेश यात्रा होगी और जो सफल रहेगी। इस माह में प्रेम संबंध अपना अनुकूल असर दिखाएंगे। विपरित  के प्रति आपका आकर्षण बना रहेगा और सफलता साथ देगी। प्रिया मित्र की प्राप्ति से मन प्रसन्न रहेगा।

अक्टूबर माह  मकर राशि मे आप से शत्रु दबा रहेगा और डरा रहेगा। शत्रु पक्ष शत्रुता छोड धोखे से मित्रता वाला भाव प्रकट करने की कोशिश करेगा। आप को प्रभावित करने के लिए  वो युक्तियों का प्रयोग करता हुआ आपके समक्ष खड़ा होगा सावधान रहें। शत्रु पर भरोसा करना इस समय में लाभवंद ना होगा। तंबाकू मध अफीम गांजा सिगरेट आदि व्यसन से दूर रहे स्वास्थ्य के लिए नेक फल रहेगा। शत्रुओं से बचाव के लिए और मंदे समय मे बचाव के लिये मूंग साबत दाल एक किलो बहते पानी में डालना शत्रु पक्ष से बचाव करने मे उपाय सहायक होगा।

अक्टूबर मास मकर राशि में जीवनसाथी से मनमुटाव बना रहेगा। विचार ना मिलने की वजह से मामला अलगवाद तक होगा। राहु की स्थिति शुभ ना होने के कारण और मंगल दोष के प्रभाव से दांपत्य जीवन निर्वाह शुभ ना होगा। नौकरी में स्थान परिवर्तन के योग है।असुरक्षा की भावना रहेगी और नौकरी के लिए यह समय कोई ज्यादा फलदाई ना होगा। 16 अक्टूबर मंगलवार शुक्र का वक्री होना परिवारिक जीवन में स्थिति को बदलाव करेगा। निश्चित तौर पर स्थिति में सुधार होगा। मनमुटाव कम होकर समय फलदाई रहेगा। मंदे समय से बचाव के लिए चार सूखे नारियल बहते पानी में डालना मंदे समय को दूर करने में सहायक होगा।

मकर राशि अक्टूबर माह में सेहत के संदर्भ में नेक फल देने वाली ना होगी।  गले और छाती के रोग रहेगे। 17अक्टूबर बुधवार सूर्य का वृश्चिक राशि में प्रवेश सेहत के संदर्भ में नेक फल देने वाला होगा। स्वास्थ्य लाभ को प्राप्त होगा। मंत्दे समय से बचाव के लिए चने की दाल एक किलो किसी धार्मिक स्थान को दान करना शुभ असर पैदा करेगा।

व्यापार के संदर्भ में अक्टूबर माह मकर राशि में शुभ फलदाई होगा। व्यापार की योजनाएं कामयाब होंगी। व्यापार बढ़ेगा।  कुछ माह से चली आ रही रुकावटें इस माह में दूर होगी और कारोबार सफल होगा। कारोबार को बढ़ाने के लिए व्यापारिक स्थल पर किसी धार्मिक पुस्तक का रखना नेक फल पैदा होगा। इस माह में व्यय की दृष्टि से खर्च ज्यादा रहेगा और सारा खर्च मन को सुख देने वाला ना होगा। घर की छतों को साफ रखना और बेकार पडा बिल्डिंग मटेरियल का समान निकाल बाहर करना नेक फल पैदा करेगा।
कुंभ राशि


कुंभ राशि अक्टूबर वास में शुभ ग्रह और प्रभावी नक्षत्रों की स्थिति के कारण शुभ फलदाई रहेगी। लगन पति शनि की उच्च स्थिति के कारण इस माह मे  निर्णय करने आसान रहेंगे। इस माह आप काफी महत्वपूर्ण निर्णय लोगे जो सब सफल रहेंगे। इन निर्णयों के कारण समाज में और परिवार में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। 19 अक्टूबर शुक्रवार से 24 अक्टूबर बुधवार तक पंचकों का समय है। इस समय में धन के खर्चे की योजनाएं ना बनाएं और शत्रु  पक्ष के खिलाफ कोई नयी कार्रवाई करने के लिए कोशिश ना करें। शुभ फल प्राप्त होगा। इस माह में मिट्टी के खिलौने और मिट्टी की मूर्तियां खरीद ना करें तो नेक फल पैदा होगा। राशि में बृहस्पति की शुभ स्थिति के कारण इस माह में मुंह से कहा हुआ शबद पूरा करने से देव कृपा बनी रहेगी और समाज में मान-सम्मान और उचित स्थान की प्राप्ति होगी।

इस माह आप सृजनात्मक उर्जा के मुख्य स्रोत बने हुए हैं। आप इस सृजनात्मक ऊर्जा को इस माह अपने जीवन में क्रियात्मक रूप देने में सक्षम होंगे। आपकी ऊर्जा आपके कार्य जगत में आनंद में और निर्माण के नए आयाम खोलने में अति सहायक होगी। यह समय प्रेम और परिवार के साथ समय बिताने का है और सयम को सृजन करने का है। इस समय आप अपनी सकारात्मक ऊर्जा का सदुपयोग करते हुए  आपने जागतिक मामलों को आप सहजता से निपटा लेंगे और समय का सदुपयोग करते हुए आनंद पूर्वक समय व्यतीत करेंगे।

कुंभ राशि अक्टूबर माह में धन के लिए अति शुभ रहेगी। धन की आमद निर्विघ्न रहेगी और निश्चित समय के अनुसार धन प्राप्त होता रहेगा। रुका हुआ और दबा हुआ धन प्राप्त होगा। 11 अक्टूबर गुरुवार बृहस्पति का वृश्चिक राशि में प्रवेश कोई ज्यादा शुभ असर का ना रहेगा। धन के लिए अब संघर्ष और मेहनत की शर्त लाज़मी होगी। जीवनसाथी का स्वास्थ्य नेक फल का होगा। जीवन साथी की गर्दन और पीठ में खिंचाव रहेगा। जिसके लिए चने की दाल का दान एक किलो किसी धार्मिक स्थान पर हफ्ते में एक बार और 3 हफ्ते देने से स्वास्थ्य लाभ प्राप्त मे सहायक होगा। इस मास मे लेखन कहानी उपवास ज्योतिषशास्त्र और फल कथन में रुचि बनी रहेगी।

कुंभ राशि मे अक्टूबर मास मित्रों की संख्या कम रहेगी। मंगल की स्थिति राशि में नेक ना होने के कारण नए मित्र भी  कम बनेंगे और पुराने मित्रों से भी विचारो मे मतभेद होने के कारण कुछ दूरी बनी रहेगी। इस मास शेयर बाजार कम लाभ देगा। नई  इन्वेस्टमेंट थोड़ा समय बाद करें तो फलदाई रहेगी। 10 अक्टूबर बुधवार नवरात्रों के प्रारम्भ से ही ग्रहों मे हुई तबदीली से आप के समय मे सुधार होगा।  मित्रों से और परिवारिक सदस्यों से आपका मेलजोल बडेगा जो लाभदायक होगा।

अकतूबर मास कुंभ राशि में चंद्रमा की स्थिति अत्यंत शुभ होने के कारण घर पर सफाई का कार्य रंग पेंट करवाने का कार्य और घर को सुंदर बनाने का कार्य निर्विघ्न पूरा होगा। इस मास परिवार में धार्मिक उत्सव होगा। जो फलदाई रहेगा। सारा परिवार इस परिवर्तन में आनंद मानेगा। 4 अक्टूबर बुधवार सूर्या का तुला राशि में प्रवेश से परिवारिक स्थिति और अधिक आनंदमय होगी। यह तब्दीली परिवारिक सदस्यों से मेलजोल बढ़ाने में और नयी जायदाद खरीदने में सहायक होगी।

अक्टूबर माह मे कुंभ राशि विद्या के लिए नेक फलदाई ना होगी। विद्या को लेकर कई तरह रुकावटें होंगी। जो मन को परेशानी देने वाली होगी। 26 अक्टूबर शुक्रवार बुध का वृश्चिक राशि में प्रवेश विद्या के संदर्भ में नया आयाम देगा। विद्या में उलझने और रुकावटें दूर होगी। उच्च विद्या प्राप्ति के लिये दूर देश में जाना पड़ेगा। जो एक सफल प्रतिक्रिया माना जाएगा। प्रेम संबंध इसी माह में कुछ ज्यादा लाभ देने वाले ना होंगे। बेहतर होगा विपरीत के प्रति आकर्षण में लगाव ना लगाए। मंदे  समय में विद्या और प्रेम संबंधों की सफलता के लिए इस मास मूंग साबुत दाल पानी में भिगोकर सुबह पक्षियों को डालना शुभ असर पैदा करेगा और बुरे समय को खत्म करने के सहायक होगा।

कुंभ राशि अक्टूबर माह में शत्रु पक्ष दबा और डरा रहेगा। राहु की उपस्थिति कुंभ राशि में अति शुभ होने के कारण शत्रु पक्ष आपके समक्ष आने का साहस ना कर सकेगा। विजय श्री साथ देगी। 19 अक्टूबर शुक्रवार विजयदशमी के उपरांत हुई ग्रहों की तब्दीली से समय अनुकूल होगा। रुके हुए कार्य पूर्ण होंगे राज दरबार में और कोर्ट कचहरी के मामलों में जीत हासिल होगी।

जीवन साथी का साथ अक्टूबर मास में धनु राशि में नेक बना रहेगा। आप के जीवन साथी का स्वास्थ्य कुछ नरम रहेगा और विचारों की एकरूपता ना होने के कारण मनमुटाव पैदा होगा। नौकरी के पक्ष में इस मास शुरुआत में नेक फल का ना होगा। सीनियर अफसरों का दबाव बना रहेगा। परंतु 4 अक्टूबर बुधवार सूर्य का तुला राशि में प्रवेश सब अटकलों को विराम लगाता हुआ जीवनसाथी से मधुर संबंध प्रकट करने में सहायक होगा और नौकरी के संबंध में राहत प्रदान करेगा। मंदे समय में नौकरी के लिए और नेक परिवारिक स्थिति के लिए 8 किलो कनक किसी धार्मिक स्थल में दान करना स्थिति को शुभ करने में सहायक होगा।

अक्टूबर माह कुंभ राशि में आपकी सेहत के संबंध में दांतो के गले के और छाती के रोग रहेंगे। 26 अक्टूबर शुक्रवार बुध का वृश्चिक राशि में प्रवेश निश्चित तौर पर स्वास्थ्य मे लाभ प्राप्त करने में सहायक होगा। मंदे समय के लिए हरा चारा पशुओं को डालना नेक फल पैदा करेगा। इस मास धार्मिक कार्य सर्वोत्तम रहेंगे।जिन का  नेक फल प्राप्त होगा। धार्मिक अनुष्ठान होंगे और धर्म के प्रति रुचि बढ़ेगी। तन मन धन से धर्म की सेवा मुबारिक असर की होगी। गुरुवार बृहस्पति का वृश्चिक राशि में प्रवेश अत्यंत शुभ फलदायक रहेगा।आप की धर्म के प्रति आस्था मजबूत होगी।

अक्टूबर माह  कुंभ राशि मे व्यय अधिक रहेगा और अधिकतर व्यय गैर जरूरी चीजों पर होगा। यह व्यय मन को कष्ट देने वाला होगा। इस माह में सर्व कार्यों में सिद्धि प्राप्त हेतु सरसो के तेल का दान किसी धार्मिक स्थान पर करना निश्चित तौर पर धन को बढ़ाने वाला और मान-सम्मान को पैदा करने वाला होगा।

मीन राशि


ग्रह और नक्षत्रों की शुभ युति के कारण मीन राशि अक्टूबर माह में शुभ फलदाई रहेगी। मीन राशि में चंद्रमा की स्थिति उच्च  होने के कारण राशी शुभ फल देने वाली होगी और दोनों जहां से मदद रहेगी। 19 अक्टूबर से 24 अक्टूबर बुधवार तक पंचकों का समय रहेगा। इस समय में नया कारोबार शुरू ना करें और विद्या से संबंधित कुछ नया कार्य ना करें तो शुभ फलदाई होगा।

बृहस्पति की उच्च स्थिति के कारण आपको इस माह अपने कैरियर की नयी सयंभावनाएं और चतुर्थी मुखी  उन्नति के अवसर मिलेंगे। इससे आप आर्थिक दृष्टि से अधिक समृद्ध होंगे। इस माह आपके द्वारा लिए गए सभी निर्णय प्रभावी रहेंगे और सफलतापूर्वक सफल होंगे। जिसकी वजह से परिवार में और समाज में मान सम्मान प्राप्त करोगे। 11 अक्टूबर गुरुवार बृहस्पति का वृश्चिक राशि में प्रवेश मीन राशि वालों को लिये जीवन के नये आयाम ले कर आयेगा।

अपने भीतर होते हुए परिवर्तन को आप संयम महसूस करोगे। आनंद और समृद्धि प्राप्त करते हुए समय व्यतीत करोगे। आप इस समय में सृष्टि के अस्तित्व को स्वीकार कर सृष्टि के महान चमत्कार से जुड़ोगे। आप जानेंगे ना कोई ऊंच-नीच ना कोई सेवक ना कोई मानक है। सभी एक साथ अस्तित्व मे साथ जुड़े होने के कारण सब एक हैं। आप अपने निजी स्वार्थी विचारों को अपने आसपास दीवारें ना खड़ी करने दें। स्वयं को दूसरों के प्रेम आनंद के लिए उपलब्ध रखें। यह समय आप की गुणवंता का पहचान का है। सृष्टि से सहयोग करें और सृष्टि के प्रेम का आनंद लें।

अक्टूबर माह में मीन राशि धन की व्यवस्था के लिए फलदाई रहेगी। धन निर्विघ्न आता रहेगा और दिया हुआ धन वापस प्राप्त होने के योग बने हुए हैं। 17 अक्टूबर बुधवार सूर्या का तुला राशि में प्रवेश धन की आमद को नया आयाम देने में सफल रहेगा। जीवनसाथी का स्वास्थ्य इस माह में नेक फल देगा। पेट की कुछ मामूली सी तकलीफ रहेगी जिसके लिए काले तिल एक किलो बहते पानी में डालना शुभ असर पैदा करेगा।

अक्टूबर माह में मीन राशि मित्रों के लिए अत्यंत प्रभावी रहेगी। निसंदेह मित्रों की संख्या बढ़ेगी और मित्र प्रभावशाली रहेगे। 16 अक्टूबर मंगलवार शुक्र का वक्री होना कोई ज्यादा नेक असर का नहीं होगा। इस समय में अपने से छोटे परिवारिक सदस्यों से और मित्रों से कुछ समय के लिए मनमुटाव पैदा हो सकता है। मंदे समय के लिए एक किलो सफेद चरी गौशाला में डालना नेक फल पैदा करेगा। इस माह में शेयर बाजार कोई ज्यादा फलदाई ना रहेगा बेहतर होगा कुछ समय उपरांत नई इन्वेस्टमेंट की जाए जो फलदाई रहेगी।

अक्टूबर माह में मीन राशि पारिवारिक स्थिति शुभ फलदाई रहेगी। परिवार के इकट्ठा होने के कारण उत्सव का माहौल होगा। नया वाहन मिलने के योग हैं। घर की साफ सफाई और सुंदर बनाने की कार्रवाई या इस माह में लगभग तय है । इस माह में दूध का दान किसी धर्म स्थान पर करना परिवारिक स्थिति को और सुदृढ़ करेगा। इस मास फलों और फूलों में विशेष रुचि रहेगी। रसायन निर्माण औषधि निर्माण जायदाद हस्तांतरित  संबंधी कार्य होंगे जो सफल रहेंगे।

अक्टूबर माह मे मीन राशि विद्या के संबंध में  कुछ रुकावटो वाली है। । विद्या के चयन के प्रति निर्णय ना हो पाना एक बड़ा असमंजस पैदा करेगा। 27 अक्टूबर शुक्रवार विजयदशमी के बाद हुई ग्रहों की तब्दीली से आप की लगन और आप का प्रयोजन लाभदायक रहेगा और विद्या में सफलता होगी। उच्च विद्या प्राप्ति के लिए दूर जाने का निर्णय आप को सफल बनाने के लिए नेकफल पैदा करेगा। इस माह में प्रेम संबंध कोई शुभ फल ना देंगे। बार बार बीते समय को याद करना मन में दुख पैदा करेगा। मंदे समय मे उपाय के लिए दो सूखे नारियल पूजा वाले बहते पानी में डालना विद्या और प्रेम मे सफलता के लिये सहायक होंगे।

अक्टूबर माह मीन राशि में शत्रु पक्ष दबा और डरा रहेगा। सूर्य की शुभ स्थिति के कारण इस के शुरू में शत्रु पक्ष आपके समक्ष ठहरने का साहस ना कर पाएगा। कोर्ट कचहरी के मामले आपके पक्ष में होते दिखाई देंगे। 17अक्टूबर सूर्य का तुला राशि में प्रवेश शत्रु पक्ष के प्रति कोई अच्छा फल ना देगा और शत्रु पक्ष आप पर भारी होने लगेगा। जिसमें आप के मित्र और निकटतम संबंधी शामिल होंगे। शत्रु पक्ष से बचाव के लिए मंदे समय मे उपाय के लिए 8 किलो कनक किसी धार्मिक स्थान पर दान करना शुभ असर का होगा।

अक्टूबर माह मीन राशि में जीवन साथी का साथ नेक  बना रहेगा। जीवनसाथी का भाग्य आपके भाग्य को सहयोग देता हुआ सफल रहेगा। इस मास में आमदनी के जरिए बड़ेगे। नौकरी में उन्नति और तरक्की के योग हैं जो सफल रहेगे। इस मास में उच्च अधिकारियों की तरफ से मान सम्मान प्राप्त होगा और आप अपने कार्य बल के ऊपर सबसे सहयोग प्राप्त करोगे। 27अक्टूबर शनिवार करवा चौथ के बाद स्थिति ज्यादा शुभ रहेगी और वैवाहिक संबंध नेक फल देंगे।

अक्टूबर माह में मीन राशि सेहत के तलक में कोई ज्यादा शुभ फलदाई ना होगी। गला और छाती के रोग रहेंगे।16 अक्टूबर मंगलवार शुक्र के वक्री होते ही निश्चित तौर पर सेहत में सुधार होना शुरू होगा। जो नेक फल का रहेगा। मंदे समय में अच्छी सेहत प्राप्त करने के लिये एक किलो चने की दाल किसी धार्मिक स्थान पर दान करना शुभ फलदाई होगा। साथ बुजुर्गों का हो जब दिन रात करता खजाना जर वा माया का हो तेरा बढ़ता। इस माह में बुजुर्गों का साथ और बुजुर्गों की सेवा आपके कष्टों को अवश्य दूर करेगी।

अक्टूबर माह मे मीन राशि वाले की धर्म  के प्रति आस्था और बढ़ेगी। धर्म के प्रति तन मन धन से आपके किए गए कार्य आपको समाज में मान-सम्मान और आप का उचित स्थान दिलवाने में सक्षम रहेंगे। परिवार में धार्मिक उत्सव होगा जो नेक फल का होगा। इस मास में अनुकूल फल पाने के लिए हल्दी की गंठिया साथ रखना या घर पर रखना सब कष्टों से बचाव रखेगा। व्यापार की स्थिति इस माह में आपकी अनुरूपता के अनुसार फल ना देगी। 24 अक्टूबर बुधवार शरद पूर्णिमा के बाद हुई ग्रहों की तब्दीली से व्यापार में तरक्की होगी और नई योजनाएं व्यापार के प्रति जो कुछ समय से बन रही थी सफल रहेगी। सरसों का तेल धार्मिक स्थान पर दान करना व्यापार की स्थिति को शुभ करेगा।

इस माह व्यय की स्थिति अधिक रहेगी। खर्चा गो हाथी का रहेगा। जो मन को ज्यादा खुशी देने वाला ना होगा। घर के कामों के ऊपर और व्यर्थ की चीजों पर खर्च होगा।

 

 

 

 

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Skip to toolbar