मूलाकं 8

Horoscope, Janam Kundali, Business Problems, Health problems

0
(0)

मूलाकं 8 जिन व्यक्तियों का जन्म महीने की , 8, 17, 26, तारीख को हो उनका मूलाकं 8  होता है। सूक्ष्म गणना करने के लिए मूलांक निकालना चाहिए,जिसके लिए दिन,मास , वर्ष की गणना करनी चाहिए। जिन व्यक्तियों का मूलाकं 8 होता है। वह जातक शनि से प्रभावित रहते है। मूलाकं 8 के जातक लंबे,  शरीर पर ज्यादा बाल और बड़ी आँखो वाले होते है। यह जातक जन्म से ही एकांत प्रिय या एकाकी स्वभाव वाले होते है। यह जातक अपने कार्य को पूर्ण निष्ठा से पूर्ण करते है।

मूलाकं 8 वाले जातक सकारात्मक स्वभाव वाले तथा रहस्यमई व्यक्तित्व के होते है। यह जातक आपने सभी कार्यों को  निष्ठा व् लगन से पूर्ण कर लेते है। मूलाकं 8 के लोग अपने व्यवसाय और जाती जीवन में अपना एकाधिकार पसंद करते है। मूलांक 8 के जातक पुरुष ज्यादा विश्वास के काबिल एवं वफादार होते है। मूलाकं 8  के जातक प्रयोगशाला, रेलवे, शिक्षण संस्था , सेना आदि के जुडे कामों मे काम करना पसंद करते है।

मूलाकं 8 वाले आपने व्यवसाय के मामले में कृषि के यन्त्र निर्माण, उधोग, खनन कार्य, पेट्रोलपंप , कम्प्यूटर सॉफ्ट वेयर और विकास कार्य मे  रूचि रखते है। मूलाकं 8 वाली स्त्रियाँ सर्वगुण संपन्न तथा रंग में मध्यम परन्तु सुशील और तीखे नयन नक्श की सुंदरता वाली होती है। अंक 8 वाले लोग कला प्रेमी और गुप्त विद्या मंत्रो को जाने वाले होते है।

मूलाकं 8 की स्त्रियाँ अपनी बौद्धिक क्षमता के कारण ही परिवार और अपने पति की चहेती बनी रहती है। मूलाकं 8  की स्त्रियाँ अपने पति के सभी कार्यों में उन की मदद को तत्पर रहती है। मूलाकं 8 की स्त्रियाँ को नेत्र रोग, मूत्र सम्बन्धी रोग, घुटनों में दर्द, गठिया बाय, रीड की हडी के रोग सम्बंधित रोगों के होने की संभावना बनी रहती है।

मूलांक 8 का स्वामी ग्रह शनि होने के कारण इस मूलांक के जातक अन्तर्मुखी प्रवृति के होते है। यह जातक संसार से दूर एकनिष्ठ होकर अपने कामो में लगे रहते है। यह जातक हर बात को गंभीरता से सोचते है। यह जातक शांत, गंभीर व निश्छल प्रवृति वाले होते है। शनि ग्रह आकाश गगां में एक मंद गति से चलने वाला ग्रह है। इसी कारण इस के प्रभाव अधीन जातक धीरे धीरे सफलता पाते है। इनके सभी  काम रुकावट से पूर्ण होते है। यह जातक परिवार और दुनिया के लिए महत्वपूर्ण कार्य करते है।

अधिकांश लोग इनके कार्यो सफलता को अधिक महत्त्व नहीं देते है। जिससे यह जातक एकाकी व एकान्तप्रिय भी हो जाते है और समाज से अलग-थलग से पड जाते है। यह जातक किसी लक्ष्य को निर्धारित कर पूरा अवश्य करते है। यह मार्ग में आने वाली बडी से बडी बाधाओ से कभी घबराते नहीं है।मूलाकं 8 वाले जातक या तो अत्यंत सफल होते है या अत्यंत असफल, मध्यमार्गी कम ही मिलते है।

मूलाकं 8 के जातक अच्छी शिक्षा प्राप्त करते है। परन्तु इन को शिक्षा के लिए संघर्ष करना पड़ सकता है। शिक्षा के मार्ग में आने वाली कठिनाइयों का सामना करते है और विधा मे सफल भी होते है।  कई बार हार मान कर बैठ जाने से इनकी शिक्षा अधूरी रह सकती है। लेकिन मूलांक 8 वाले जातक कठिनाइयों का सामना करने से नहीं घबराते है। यह जातक आपना लक्ष्य अवश्य प्राप्त करते है।

मूलाकं 8 के जातकों की आर्थिक स्थिति नेक फल की होती है। दढा सट्टा लाटरी से अचानक धन प्राप्ती होती है। कुल इन की आर्थिक स्थिति को अच्छा कहा जा सकता है। मूलांक 8 वाले लोगों में संग्रह करने की अच्छी प्रवृत्ति होती है। यह जातक फ़िजूलखर्ची बिल्कुल नहीं करते है और जो भी खर्चे करते हैं बहुत सोच समझ कर करते है। यह जातक काफ़ी धन इकट्ठा कर लेते हैं और धनवान बन जाते हैं।

मूलाकं 8 के जातको की बात की जाय। तो सामान्यतय उन का अपने मित्रों परिजनों तथा अपने भाई बहनों से सामान्य सा रिश्ता ही रहता है। इन के आपने पिता से मतभेद रहते है। इनके मित्र भी कम होते  है। मूलाकं 8वाले जातकों को आपने मित्रो से इन्हें लाभ मिलता है। मूलांक 3-4-5-7-8 वाले जातको से इनका लगाव बना रहता है।

ङमूलाकं 8 वालो के प्रेम सम्बन्ध स्थाई नहीं रहते, कई बार तो ये मन ही मन में प्रेम करते रहते है। लेकिन मूलांक 8 वाली स्त्रियां प्रेम सम्बंधों में भी होशियारी से काम लेती हैं और इनका विवाह देरी से होता हैं।

मूलाकं 8 के जातको के गहस्थ जीवन सुखी होने में व्यधन हो सकता है। आपसी अनबन रह सकती हैं। संतान कम होती है। इन्हे नर संतान प्राप्ति में देरी भी हो सकती है। लेकिन संतान धन संग्रह में सहयोग करती है।
मूलाकं 8 के जातक हर कार्यक्षेत्र मे आपनी सफलता की छाप छोडते है और परिश्रम व लगन से कार्यो में सफल रहते है। यह जातक डॉक्टर, कैमिस्ट, हार्डवेयर स्टोर, ट्रांसपोर्टर, ठेकेदार, मशीनरी पर काम करने वाले के रूप में देखे गए है।  बीमा एजेंट, प्रिंटिंग प्रेस आदि में भी ये सफल रहते है।

मूलाकं 8 शनि का अंक होने के कारण यह लोग मजदूरी करते हुए भी मिल सकते हैं।
मूलाकं 8 के जातकों का स्वास्थ्य नेक फल का नही रहता है। समय समय पर मूलाकं 8 के जातको को लीवर, तिल्ली, श्वसन-तंत्र , मूत्र व मल, उदर, त्वचा आदि से सम्बंधित रोग पीड़ित कर सकते हैं।

गुर्दे के रोग, आंतो के विकार, फोड़ा, रक्त सम्बंधित रोग, गठिया आदि भी होने की संभावनाए हो सकती है। इन की वृध्दावस्था में देखने व सुनने की शक्ति कमजोर हो जाती है। मूलाकं 8 के जातकों को अन्न के साथ गोश्त दिन के समय खाने से बच कर रहना चाहिए।  इन को शाकाहार भोजन उतम स्वास्थ प्रदान करने मे सहायक रहता है।

अंधे काने और लवलद का साथ हमेशा मुसीबत खडी करता होगा। घर के साथ वाले घर का ना बनना और कुत्तो का वहा रहना नाहक वास्ते औलाद परेशानी खडी करता जायेगा। काले कुत्ते का मरना और
उस का घर से भाग जाना मंदे समय की निशानी होगा।

मूलाकं 8 के जातको को सभी प्रकार की परेशानियों से बचने के लिए। जातक को नीलम या नीली सोने या चाँदी की अँगूठी में जडवा कर। शनिवार के दिन सांय को शनि की होरा मे पूजा घर में जाकर। अँगूठी को दूध में व् गंगाजल में स्नान करवा कर शनिदेव के मंत्र “ ॐ सं शनिश्चराय  नमः “ का उच्चारण 108 बार करके अँगूठी को सिद्ध करके मध्य उँगली में पहनना चाहिए। और शनि के मंदे प्रभाव के समय में शनि के मंत्र का जाप नित्य करना चाहिए।

जन्माक 8 के लिए अनुकूल

समयावधि   23 दिसंबर से 20 जनवरी तक का समय

अधिष्ठाता ग्रह   शनि

शुभ वार  शनिवार एवं शुक्रवार

तारीख  8 , 17 और  26

मित्रता मूलांक  4 , 6 , और 8 वाले व्यक्ति

रंग  काला , नीला    

दिशा पश्चिम

रत्न   नीलम

धातु   स्टील व् लोहा

जन्माक 8  के लिए प्रतिकूल  

समयावधि  21 मार्च  से 20 अप्रैल  तक का समय

अधिष्ठाता ग्रह

शुभ वार   बुधवार

तारीख  7, 16 , और 25    

मित्रता मूलांक  1, 2 और 9 वाले व्यक्ति

रंग  सुनहरा और हल्का हरा    

दिशा पूर्व    

रत्न   मोती , मूंगा    

धातु  चांदी और स्वर्ण

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Skip to toolbar